25 C
Jaipur
बुधवार, नवम्बर 25, 2020

वैश्विक खुलेपन को चुनौती है चीनी कंपनियों पर पाबंदी

- Advertisement -
- Advertisement -

बीजिंग, 22 अक्टूबर (आईएएनएस)। दुनिया की अग्रणी दूरसंचार कंपनी हुआवेई समेत अन्य चीनी कंपनियों को घेरने के लिए अमेरिका जैसे देश पूरी शिद्दत से जुटे हुए हैं। ब्रिटेन और अमेरिका पहले ही हुआवेई के 5जी नेटवर्क संबंधी निर्माण पर पाबंदी लगा चुके हैं। इसी कड़ी में यूरोपीय देश स्वीडन का नाम भी जुड़ गया है। उसने भी हुआवेई को प्रतिबंधित करने का ऐलान किया है।
21वीं सदी में हम एक-दूसरे के साथ पूरी तरह जुड़े हुए हैं, ऐसे वैश्विक खुलेपन के माहौल में चीनी कंपनियों पर नियंत्रण करने की कोशिश हो रही है। इस कोशिश का परिणाम दुनिया को पीछे धकेलने के रूप में देखा जा सकता है। जरा सोचिए, अगर चीन भी तमाम बड़ी अंतर्राष्ट्रीय कंपनियों पर बैन लगाने लग जाय या अन्य देश भी ऐसा करने लगें तो नतीजा क्या होगा। एक ऐसी होड़ शुरू हो जाएगी जिसमें प्रत्येक देश सिर्फ और सिर्फ अपने हितों को सर्वोपरि रखना चाहेगा। फिर उस वैश्वीकरण का क्या होगा, जिसके चलते माना जाता है कि पूरी दुनिया एक ग्लोबल विलेज है। किसी राष्ट्र विशेष के विकास और उत्पादन से दूसरे देशों को भी लाभ पहुंचने की बात इसके तहत की जाती है।

लेकिन हाल के दौर में अमेरिका व ऑस्ट्रेलिया आदि वैश्विक एकतरफावाद की मुहिम चलाने पर जोर दे रहे हैं। अगर इस पूरे मुद्दे की तह में जाएं तो पता चलेगा कि कई राष्ट्र चीन के तेज विकास से आक्रांत हो गए हैं। वे चीन को रोकने की हरसंभव कोशिश करना चाहते हैं। हो सकता है कि इससे अल्पावधि में उक्त देशों की कंपनियों को संरक्षण मिले। लेकिन दूरगामी ²ष्टि से यह वैश्विक प्रतिस्पर्धा के माहौल को खत्म करने का कदम होगा। आज के दौर में दुनिया के किसी भी कोने में बना सामान ग्लोबल बाजार में आसानी से पहुंच जाता है। इसमें इंटरनेट और तकनीक का भी बड़ा हाथ है। विश्व के हर हिस्से में होने वाली घटनाओं के बारे में हम चंद सेकंड में इसलिए जानकारी हासिल कर पाते हैं क्योंकि विश्व आपस में जुड़ा हुआ है। 5जी तकनीक दुनिया को तेजी से और करीब लाने का काम कर सकती है। पर इस तरह से चीन का नाम लेकर सुरक्षा बहाने से उसकी कंपनियों को ब्लॉक करना अंतर्राष्ट्रीय नियमों के अनुकूल नहीं कहा जा सकता है।

- Advertisement -वैश्विक खुलेपन को चुनौती है चीनी कंपनियों पर पाबंदी 2

(लेखक : अनिल पांडेय, चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)

— आईएएनएस

National Dunia से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर लाइक और Twitter, YouTube पर फॉलो करें.

- Advertisement -
वैश्विक खुलेपन को चुनौती है चीनी कंपनियों पर पाबंदी 3
Ram Gopal Jathttps://nationaldunia.com
नेशनल दुनिआ संपादक .

Latest news

आशादीप बिल्डर की ठगी के शिकार किंग्सकोर्ट निवासी लामबंद हुए

- RERA में ढेरों शिकायतें दर्ज, कुछ कंजूमर कोर्ट की शरण में - बिल्डर को बचाने में जुटे कई रिटायर्ड ब्यूरोक्रेट्स, एक ब्यूरोक्रेट ने...
- Advertisement -

क्या भाजपा के एजेंट हैं AIMIM मुखिया असदुद्दीन ओवैसी?

Jaipur. हैदराबाद के सांसद और AIMIM पार्टी के मुखिया असदुद्दीन ओवैसी के द्वारा हाल ही में बिहार में 20 विधानसभा सीटों पर...

कांग्रेस नेता Ahamad Patel का रात 3:30 बजे निधन, 20 साल से सोनिया गांधी के करीबी रहे

नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद अहमद पटेल आज बीती रात अलसुबह 3:30 बजे निधन (Ahmed Patel Passes Away) हो गया। पटेल...

केंद्र ने 234.68 करोड़ रुपये की 7 कृषि प्रसंस्करण क्लस्टरों को दी मंजूरी

नई दिल्ली, 24 नवंबर (आईएएनएस)। केंद्र सरकार ने 234.68 करोड़ रुपये की लागत से सात कृषि प्रसंस्करण क्लस्टरों को मंजूरी दी है। यह जानकारी...

Related news

दीपिका ने शुरू कर दी फिल्म पठान की शूटिंग?

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेत्री दीपिका पादुकोण ने सोमवार को कथित तौर पर शाहरुख खान के साथ अपनी नई फिल्म पठान की शूटिंग शुरू कर दी...

दुबई के शासक की राजकुमारी पत्नी के बॉडीगार्ड से संबंध, चुप रहने को दिए 12 करोड़

नई दिल्ली। दुबई (Dubai) के शासक शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम की राजकुमारी पत्नी का अपने बॉडीगार्ड (Bodyguard) से रिश्ता था।...

Love jihaad के खिलाफ अध्यादेश और अयोध्या का हवाईअड्डा भगवान राम के नाम पर

लखनऊ। योगी आदित्यनाथ सरकार (Yogi adityanath) ने लव जिहाद (Love jihaad) के खिलाफ सख्ती करने का कानून बनाने का निर्णय लिया है। योगी कैबिनेट...

यात्रियों की कमी के चलते Tejas express का परिचालन आज से बंद

लखनऊ। इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन लिमिटेड (IRCTC) ने सोमवार से देश की पहली निजी ट्रेन तेजस एक्सप्रेस का परिचालन रद्द कर दिया...
- Advertisement -