नई दिल्ली।

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा शांति पुरस्कार (Seoul Peace Prize) मिला है। मोदी को आज दक्षिण कोरिया की राजधानी सियोल में आयोजित एक भव्य समारोह में यह पुरस्कार दिया गया है। पुलवामा अटैक के बाद मोदी ने कहा है कि यह भारत के प्रत्येक नागरिक के अथक प्रयासों का नतीजा है।

मोदी ने कहा है कि वसुधेव कुटुंबक का परिणाम है। मोदी ने कहा है कि यह मेरी निजी उपलब्धि नहीं है, यह देश का सम्मान है। यह अवार्ड मुझे नहीं, भारत को मिला है। इस अवसर पर मोदी ने ‘औम शांति, शांति, शांति’…… का मंत्र भी बोला।

पीएम मोदी ने कहा है कि Seoul Peace Prize दुनिया के सबसे बड़े शांति दूत महात्मा गांधी के 150वें जन्म वर्ष पर मिला है। इस अवार्ड को मोदीनोमिक्स (modinomics) पर दुनिया में मोहर लगाई है। मोदी ने कहा है कि अवार्ड के साथ मिली 1.30 करोड़ रुपए की पुरस्कार राशि को ‘नमामी गंगें’ प्रोजेक्ट को दिया जाएगा।

आपको बता दें कि शांति के लिए दिए जाने वाले नोबेले पुरस्कार के बाद सियोल शांति पुरस्कार दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा शांति अवार्ड है।

पीएम मोदी को यह अवार्ड पाकिस्तान द्वारा तमाम आतंकी घटनाओं को अंजाम देने के बावजूद शांति बनाए रखने और उसपर हमला नहीं करने के लिए दिया गया है। Seoul Peace Prize देने वालों ने मोदी को शांति स्थापित करने के प्रयासों के चलते बड़े दिल वाला विश्व का सबसे बड़ा नेता करार दिया है।

अधिक खबरों के लिए हमारी वेबसाइट www.nationaldunia.com पर विजिट करें। Facebook,Twitter पे फॉलो करें।