pm narendra modi in jaipur 1 may 2019
pm narendra modi in jaipur 1 may 2019

जयपुर।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जयपुर में आयोजित रैली में पाक आतंकी मौलाना मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित किए जाने की यूएन के कदम का स्वागत किया, साथ ही कहा कि ‘यह तो बस शुरुआत है, आगे आगे देखिए होता है क्या?’

प्रधानमंत्री मोदी के इस बयान को लेकर एक बार फिर से एयर स्ट्राइक या सर्जिकल स्ट्राइक होने के तौर पर देख रहे हैं। दरअसल, मौलाना मसूद अजहर पर बैन लगने के साथ ही उसके दूसरे किसी देश में जाने और उसकी सभी संपत्तियां जब्त करने का रास्ता साफ हो गया है।

ऐसे में वह निश्चित तौर पर केवल पाकिस्तान में ही रहेगा। भारत मसूद अजहर को पकड़ने, उसको मारने या पाकिस्तान द्वारा भारत को सौंपने को लेकर काम कर रहा है। यदि चुनाव के बाद मोदी सरकार फिर से सत्ता में आती है, तो पक्के तौर पर कहा जा सकता है कि मसूद अजहर का बचना आसान नहीं होगा।

जिस तरह की खबरें आती रहती हैं, उससे साफ है कि मसूद अजहर को लेकर भारत पूरी स्ट्रेटिजी बनाए हुए है। जैसे ही भारत को मौका मिलेगा, वह मसूद अजहर को पकड़ लेगा, या आसोमा बिन लादेन की तरह पाक में घुसकर मारेगा।

मोदी के द्वारा ‘आगे आगे देखिए होता है क्या’ के बयान को देश में बेहद गंभीरता से ले रहे हैं। मोदी के बयान के बाद जयपुर ही नहीं, बल्कि देशभर में यह चर्चा जोर पकड़ चुकी है कि भारत मसूद अजहर को मारने और पकड़ने के लिए या तो पाक में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक करेगा अथवा फिर से एयर स्ट्राइक को अंजाम देगा।

जिस तरह की मोदी की बीते पांच साल में आतंवादियों को लेकर स्टाइल रही है, वह भी यही संकेत दे रही है कि अब मौलाना मसूद अजहर का अब बच पाना बेहद मुश्किल हो गया है।

पीएम मोदी के बयान को एक बार फिर उनके पुराने बयानों और संकेतों के तौर पर देखा जा रहा है, जब मोदी ने बयान दिए थे और उसके बाद सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक होने के तौर पर देखा जा रहा है।

बहरहाल, पाकिस्तान के लिए अब ज्यादा मुश्किल समय आ रहा है। खासतौर से यदि पीएम मोदी फिर से सत्ता में आते हैं तो समझ लेना चाहिए कि मसूद अजहर के साथ भारत वही कर सकता है जो अमेरिका ने बिन लादेन को लेकर किया था।