New delhi

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले की प्राचीर से ऐतिहासिक भाषण देकर न केवल भारत के नागरिकों विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए आगे आने का आह्वान किया, बल्कि साथ ही साथ नाम नहीं लेते हुए पाकिस्तान को कड़ी चेतावनी दी और चाइना के सामान जो भारत के बाजार में अटे पड़े हैं, उन से मुक्त होने के लिए भी भारत की जनता से आव्हान किया है।

किसानों से जैविक खेती करने भारत को, प्लास्टिक मुक्त बनाने स्वच्छ भारत का नारा, सशक्त भारत सुरक्षित भारत के साथ ही साथ नरेंद्र मोदी ने सरकारी अधिकारियों को भी चेतावनी देते हुए कहा कि जो काम नहीं करेगा, उसको घर बैठा दिया जाएगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने मेक इन इंडिया और मेड इन इंडिया, मेड इन इंडिया के बाद अब “टूरिस्ट इन इंडिया” का नया नारा दिया है। आइए जानते हैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण की 10 बड़ी बातें जो पहली बार देश के किसी प्रधानमंत्री ने लाल किले की प्राचीर से कही हैं-

देश सशक्त कानून बनाने के लिए प्रतिबद्ध है और अब “समस्याएं अटकती नहीं है, समस्याएं लटकते नहीं हैं”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले से अपने सभी सिविल सेवा में काम करने वाले अधिकारियों को चेतावनी देते हुए कहा कि हमने बीते 5 साल के दौरान बड़े-बड़े अधिकारियों को घर बैठा दिया है, जो काम नहीं करते थे और काम को टालने का काम करते थे।

एक तरह से वर्तमान में काम करने वाले ब्यूरोक्रेट्स को चेतावनी देते हुए मोदी ने कह दिया है कि जो काम नहीं करेगा, उसे घर बैठा दिया जाएगा। इसके साथ ही प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि 70 साल के दौरान जो सरकार कठोर निर्णय नहीं लेती थी, वह दौर अभी चुका है, अब देश में सरकार ऐसी है, जिसका मंत्र है न काम अटकेगा, न काम अटकेगा, समस्याएं अटकती नहीं है और समस्याएं लटकती नहीं है।

मोदी ने अपने मंत्रियों सांसदों समेत तमाम अधिकारियों को परोक्ष रूप से साफ-साफ कह दिया है जो काम नहीं करेगा, वह अपने बच्चों के साथ घर में समय बिताए।

पाकिस्तान को कड़ी चेतावनी सुरक्षाबलों की वाहवाही

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि बीते 5 साल के दौरान उनकी सरकार ने लगभग हर रोज एक कानून खत्म करने का काम किया है, जो बिल्कुल बेकार स्थिति में था। नई सरकार के करीब 10 सप्ताह के दौरान भी देश की सरकार ने 60 पुराने पड़ चुके कानूनों को खत्म करने का काम किया है।

मोदी ने नाम नहीं लिए बगैर पाकिस्तान को चेतावनी दी कि जो अलगाववाद को बढ़ावा देगा और जो आतंकवाद को बढ़ावा देगा, वह नेस्तनाबूद कर दिया जाएगा।

इसके साथ ही मोदी ने देश की सेनाओं अर्धसैनिक बलों के समय समेत सभी सुरक्षा बलों को उनके कार्य और देश को सुरक्षा का माहौल देने के लिए बधाई दी। उन्होंने कहा कि देश सुरक्षित है और स्वतंत्र है तो उसके पीछे सबसे बड़ा कारण देश की सीमाएं हैं, अर्धसैनिक बल है।

तीन तलाक और धारा 370 को खत्म करने पर देश को बधाई दी

नरेंद्र मोदी ने उनकी सरकार के द्वारा एनआईए बिल, तीन तलाक और धारा 370 खत्म करने पर देशवासियों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर के जो लोग अब तक परतंत्र की जीवन जी रहे थे, उनको खुद का खुद की सरकार का आनंद देखने को मिलेगा।

उन्होंने जम्मू कश्मीर के युवाओं से आह्वान करते हुए कहा कि सरकार में अपनी भागीदारी निभाएं और प्रदेश के विकास के लिए आगे आएं। उन्होंने युवाओं से आग्रह किया कि जो किसी कारणवश भटक कर अलगाववाद और आतंकवाद की तरफ बढ़ गए हैं, वह मुख्यधारा में लौटे और देश के विकास में जोड़ें, देश की मुख्यधारा में जुड़कर खुद का व देश का विकास करें।

स्वदेशी को बढ़ावा देने की बात कहकर चीन को चेतावनी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसी प्रधानमंत्री के रूप में लाल किले की प्राचीर से पहली बार देशवासियों से आह्वान किया कि स्वदेशी को बढ़ावा दें। जो उत्पाद देश में पैदा होते हैं, देश में बनाए जाते हैं और देशवासियों के लिए द्वारा बनाए जाते हैं, उन उत्पादों को खरीदें।

सबसे पहले अपना गांव, फिर तहसील, फिर जिला राज्य और उसके बाद देश में बने हुए उत्पाद ही खरीदें। प्रधानमंत्री मोदी के इस भाषण के पीछे सीधे तौर पर चीन को चेतावनी के रूप में देखा जा रहा है।

बता दें कि चीन से आने वाले सामान के कारण भारत का बाजार अट पड़ा है, जिसके कारण देश में उत्पादित होने वाले सामान नहीं बिकते हैं, और इससे मेक इन इंडिया और मेड इन इंडिया को बढ़ावा मिलने में दिक्कत होती है।

सीधे तौर पर कहें तो मोदी ने चीन से साफ कह दिया है कि या तो वह पाकिस्तान का साथ छोड़ दें, आतंकवाद को साथ देने वालों से दूर हो जाएं, अन्यथा उसे आर्थिक तौर पर भारी खामियाजा उठाना पड़ेगा।

Chief of Defence, इसका मतलब तीनों सेनाओं पर एक मुख्य अधिकारी होगा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले की प्राचीर से घोषणा करते हुए कहा कि अब “चीफ ऑफ डिफेंस” होगा, यानी थल सेना, वायु सेना और नौसेना के ऊपर एक और अधिकारी होगा, जो तीनों सेनाओं को निर्देशित करेगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बताया कि अब तक जितने भी कमीशन और आयोग बने हैं, सब तकरीबन एक ही बात से सहमत हैं कि तीनों सेनाओं के ऊपर एक मुख्य सेनापति होना चाहिए, इसलिए उनकी सरकार ने फैसला किया है कि तीनों सेनाओं को निर्देशित करने के लिए चीफ ऑफ डिफेंस का पद सृजित किया गया है।

बता दें कि तीनों सेनाओं में कॉन्बिनेशन बनाने के लिए लंबे समय से चीफ ऑफ डिफेंस की डिमांड की जा रही थी, जिसको मोदी सरकार ने पूरा कर दिया है।

Single use plastic से मुक्ति के लिए देश से आव्हान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले से देशवासियों से कहा कि आप सिंगल यूजर प्लास्टिक से मुक्त हो जाएं। उन्होंने कहा कि आप तय करें जिस तरह से स्वच्छ भारत के लिए पूरा देश तैयार हुआ है और ओपन डिफेकेशन फ्री के रूप में भारत की पहचान बनी है, उसी तरह से प्रत्येक देशवासी तय करें कि सिंगल यूज प्लास्टिक का उपयोग नहीं किया जाएगा।

अधिक से अधिक कपड़े और जूट से बने हुए पहले प्रयोग लें। उन्होंने बहुराष्ट्रीय कंपनियों और उपहार देने वाले लोगों से भी आव्हान करते हुए कहा कि आप जो उपहार देते हैं, पैन और डायरी के साथ में जूट का और कपड़े से बना हुआ थैला दें, जिससे आपका प्रचार भी होगा।

मोदी ने कहा कि जूट और कपड़े से बने हुए थैलों का प्रचार होगा तो न केवल धरती प्लास्टिक मुक्त होगी, बल्कि साथ ही साथ इससे किसानों को की आय में वृद्धि होगी और गरीब माताएं बहनें, जो कुटीर उद्योग से जुड़ी हुई हैं, उनको भी रोजगार मिलेगा।

पेस्टिसाइड छोड़कर किसानों से जैविक खेती करने का आह्वान

नरेंद्र मोदी ने देश के किसानों से मांग करते हुए कहा कि वह देश के प्रत्येक किसान से अपेक्षा करता है, कि वह धरती को शहर से मुक्त करने के लिए पेस्टिसाइड का उपयोग बंद करेगा और अधिक से अधिक जैविक खेती को बढ़ावा देगा। उन्होंने किसानों से आह्वान किया कि आप जितना भी हो सके 25 परसेंट, 50 परसेंट, 100 परसेंट, जितनी भी आपकी इच्छा हो और सामर्थ्य हो, उतना जैविक खेती करें। इससे न केवल लोगों का स्वास्थ्य सुधरेगा, बल्कि धरती माता भी शहर से मुक्त होगी।

एक देश एक चुनाव और जनसंख्या नियंत्रण कानून की तरफ सरकार का ध्यान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि अब एक देश और एक संविधान है। धारा 370 लौटने के बाद जम्मू कश्मीर भी भारत का न केवल अभिन्न अंग है, बल्कि देश की एकता और अखंडता इससे परिलक्षित होती है।

मोदी ने कहा कि जिस तरह से वन नेशन वन टैक्स लागू किया गया है, उसी तरह से अब एक देश एक चुनाव की तरफ आगे बढ़ रहे हैं।

मोदी ने कहा कि जनसंख्या विस्फोट देश में सबसे बड़ी चुनौती है। उन्होंने देशवासियों से आव्हान करते हुए कहा कि जो लोग “हम दो और हमारे दो” की रणनीति पर चल रहे हैं, वे विकास के लिए काम कर रहे हैं, अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा और स्वास्थ्य स्वास्थ्य मुहैया करवा रहे हैं, ऐसे में जरूरी है कि इस तरह के लोगों को बढ़ावा दिया जाए। साथ ही नए बच्चे के जन्म से पहले माता-पिता सोचे कि जो जिस बच्चे को जन्म देने जा रहे हैं, उसके लिए शिक्षा और स्वास्थ्य मुहैया करवाने में वह काबिल हैं या नहीं।

सीधे तौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनसंख्या नियंत्रण कानून और एक देश एक चुनाव के लिए कानूनबनाने की एक नई बहस को जन्म दिया है।

करीब डेढ़ घंटे के भाषण के दौरान केवल विकास और देश ही सब कुछ

आपको बता दें कि 15 अगस्त भारत का स्वतंत्रता दिवस है और 14 अगस्त पाकिस्तान स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाता है। कल पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर की संसद में जहां भारत को कोसने का काम किया, युद्ध की धमकी दी, तो दूसरी तरफ भारत के प्रधानमंत्री ने आज लाल किले की प्राचीर से देश के विकास देश और सिर्फ देश का नारा देकर विकास में अहम भूमिका निभाने के लिए देश के प्रत्येक नागरिक को आगे आने के लिए आमंत्रित किया।

इससे साफ है कि पाकिस्तान की रणनीति क्या है और भारत किस दिशा में आगे बढ़ रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पूरा भाषण देखने के लिए आप हमारे यूट्यूब चैनल National dunia पर विजिट कर सकते हैं।