Jaipur।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा एक अभियान को लेकर जनप्रतिनिधियों को लिखा गया पत्र खूब रोमांचित कर रहा है।

मध्यप्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ समेत गैर भाजपाई सरकारों के जन प्रतिनिधियों को भी पीएम मोदी ने एक पत्र लिखा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा देश के सभी सांसदों विधायकों प्रधान जिला प्रमुख पार्षदों और सरपंचों को पत्र लिखा गया है।

जिसमें उन्होंने बरसात के मौसम का हवाला देते हुए कहा है कि जल संचय के लिए जमीनी स्तर पर जनप्रतिनिधियों के द्वारा लोगों की सहायता लेकर अधिक से अधिक जल बचाने के उपायों पर काम करने का आग्रह किया गया है।

प्रधानमंत्री के पत्र मिलने के बाद सरपंच, पार्षद, विधायक, खुद को रोमांचित महसूस कर रहे हैं। कईयों ने प्रधानमंत्री के द्वारा लिखे गए पत्र को फेसबुक, व्हाट्सएप पर वायरल किया है।

मोदी के इस पत्र में जनप्रतिनिधियों से आग्रह किया गया है कि जिस तरह से स्वच्छ भारत अभियान में उन्होंने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया था और उस को सफल बनाया था, ठीक उसी तरह से जल संचय के इस अभियान को सफल बनाने में मदद करें।

उन्होंने कहा है कि पंचायत, पंचायत समिति स्तर पर होने वाली सभी बैठकों में उनके इस पत्र को पढ़कर सुनाया जाए, ताकि पदाधिकारियों और जनता दोनों को इस बात का पता चले कि देश में जल संचय का अभियान शुरू हो चुका है और प्रधानमंत्री के द्वारा इसकी अपील की गई है।

गौरतलब है कि देश के जिन राज्यों में भाजपा की सरकार नहीं है, वहां पर भी यह पत्र पहुंच रहे हैं देश में लाखों की तादात में पत्र पीएमओ की तरफ से भेजे जा रहे हैं।