pm kisan yojana pm modi

जयपुर।
केंद्र सरकार के द्वारा एक फरवरी को घोषित की गई प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan yoajana) का राजस्थान के पंजीकृत (registration) हो चुके 16 लाख में से केवल 1.25 लाख किसानों को ही फायदा मिल पाया है।

केंद्र सरकार के द्वारा घोषणा के बाद राज्य सरकार ने 17 फरवरी से पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन तो शुरू कर दिया, लेकिन कई बार सर्वर ही डाउन रखा। किसान ई मित्र (E-mitra) पर आते और बिना पंजीकरण लौट जाते।

नतीजा यह निकला कि जब रविवार को पीएम मोदी ने गोरखपुर से इस योजना की लॉन्चिंग की तो राजस्थान से एक भी किसान को लाभ नहीं मिला, जबकि उसी दिन देश के 1.01 करोड़ किसान परिवारों के बैंक खातों में 2020 हजार करोड़ की मदद से 2000 रुपए की पहली किस्त आ गई थी।

अब राज्य के सहकारिता विभाग ने शुक्रवार को आंकड़ा (Data) जारी किया है, जिसके अनुसार राज्य के 16 किसानों का पंजीकरण हो चुका है, किंतु पटवारी और गिरदावरों के द्वारा तस्दीक नहीं किया जा रहा है। इसके चलते प्रदेश का डेटा केंद्र को भेजा ही नहीं जा रहा है।

दूसरी ओर केंद्र सरकार का दावा है कि सालभर में देश के 12 करोड़ किसानों को इस योजना के तहत 80 हजार करोड़ रुपए के फंड में से 75 हजार करोड़ रुपए दिए जाएंगे।

पीएम मोदी ने भी पिछले दिनों राज्य के चूरू जिले में आयोजित जनसभा में प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर किसानों को मिलने वाले सहायता को रोकने का आरोप लगाया था। जिसपर सीएम अशोक गहलोत ने एतराज किया था, लेकिन उसके दूसरे ही दिन 1.25 लाख किसानों के खातों में 2000 रुपए की पहली किस्त आ गई।

अधिक खबरों के लिए हमारी वेबसाइट www.nationaldunia.com पर विजिट करें। Facebook,Twitter पे फॉलो करें।