नई दिल्ली।

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आजकल केवल भारत में विपक्षी पार्टियों के निशाने पर ही नहीं हैं, बल्कि दुनिया के कई देशों की प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और वजीर ए आजम भी मोदी को दिन-रात गालियां बक रहे हैं।

मोदी ने एक और जहां भारत में कांग्रेस मुक्त भारत का अभियान चला रखा है, वहीं दूसरी तरफ दशकों तक आतंक का पर्याय रहे पाकिस्तान की हालत ऐसी करती है कि आज वह दुनिया के सामने कटोरा लिए भीख मांग रहा है।

मोदी ने पाक को थमाया भीख का कटोरा, इमरान खान ने कहा: 'सुसाइड कर लूंगा' 1

इस बात का सबसे पुख्ता और मजबूत सबूत है खुद पाकिस्तान का मीडिया। पाक मीडिया ने न केवल वहां के वजीर आला को दोषी ठहराया है, बल्कि पाक की डूबती अर्थव्यवस्था के लिए मोदी की जिम्मेदार माना है।

मोदी ने शुरुआत में पाक से रिश्ते सुधारने के लिए अपनी ओर से आगे चलकर बड़े भाई की तरह व्यवहार किया। मोदी ने पीएम बनने के बाद नवाज शरीफ से बात शुरू की और रिश्ते सुधारने के हर सम्भव प्रयास किये, लेकिन हरकतों से लाचार पाक नहीं सुधरा।

प्रधानमंत्री बनने के कुछ ही महीनों बाद भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अचानक से पाकिस्तान में जाकर ना केवल पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को जन्मदिन की बधाई दी, बल्कि उनकी बेटी की शादी में शिरकत की और शरीफ की मां के पैर छुए, उनको आम व कश्मीर की शोल भी भी भेंट की।

इसको लेकर मोदी को अपने ही देश में आलोचना का सामना करना पड़ा, लेकिन प्रधानमंत्री मोदी की यह रणनीति शुरुआती थी। जैसा कि भारत में होता आया है, हम पहले बात करते हैं और उसके बाद दूसरे रास्ते अपनाने हैं।

पीएम बनने से पहले मोदी ने एक टीवी चैनल के साथ बातचीत में साफ कहा था कि पहले पाकिस्तान से बात करनी चाहिए, उसके बाद भी वह नहीं माने तो उसी की भाषा में जवाब देना चाहिए। मोदी ने वही किया है।

शायद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पाकिस्तान के साथ संबंध सुधारने का प्रयास कर रहे थे, लेकिन अपनी हरकतों के कारण बाज नहीं आए पाकिस्तान ने लगातार पीठ पर छुरा घोंपा, तो भारत ने उसी की सरजमीं में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक की। पाकिस्तान के कई आतंकी और सेना के बंकरों को नष्ट कर दिया।

पाक नहीं माना तो 2016 से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान के साथ बदले की भावना से काम किया। तमाम विदेशी मंच पर से पाकिस्तान की विदाई कर दी और हालात यह कर दिए कि अमेरिका द्वारा पाक को राहत फंड बंद कर दिया गया।

रूस के द्वारा बड़ा निवेश किया जा रहा था, उसके रास्ते बंद कर दिए गए। मोदी ने विदेशी मंच पर पाक की ऐसी घेरेबंदी कर दी कि तमाम विदेशी सहायता पाकिस्तान के हाथ लगने से रह गई।

मोदी ने पाक को थमाया भीख का कटोरा, इमरान खान ने कहा: 'सुसाइड कर लूंगा' 2

आज की हालत यह है कि पाकिस्तान के ऊपर 60 अरब डॉलर का कर्ज है, यानी प्रत्येक पाकिस्तान नागरिक डेढ़ लाख रुपए का कर्जदार है। पूरे पाकिस्तान की आबादी में से 60% आबादी गरीबी रेखा के जीवन जी रही है।

करीब 3 महीने पहले ही मोदी को गाली देकर और नया पाकिस्तान बनाने का वादा करके सत्ता में आए क्रिकेटर इमरान खान को पाक के नागरिक सुसाइड करने की सलाह दे रहे हैं। इमरान खान को कुछ भी नहीं सूझ रहा है और लोग उनको बिल्कुल नाकाम प्रधानमंत्री घोषित कर चुके हैं।

इसके चलते पाकिस्तान की आम आवाम अपने वजीरे आजम को आत्महत्या करने के लिए सलाह दे रही है। पाक पीएम की नाकामी का जीता जागता उदाहरण पाकिस्तानी टीवी चैनलों के माध्यम से देखा जा सकता है।

इन दिनों पाकिस्तानी टीवी चैनल भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पाकिस्तान की बदतर हालत करने के लिए विस्तार से जिम्मेदार बता रहे हैं, तो दूसरी तरफ इमरान खान की कड़ी आलोचना की जा रही है।

यूएनओ, सार्क समेत तमाम विदेशी मंचों से भारत ने घेराबंदी करके पाकिस्तान की भिखारी देश वाली हालात कर दी है, और सभी विदेशी मंचों से पाकिस्तान की विदाई कर दी है।

अभी पाकिस्तान के वजीरे आजम इमरान खान कटोरा लिए भीख मांगने को मजबूर है, लेकिन कोई भी विकसित देश पाकिस्तान में निवेश करने या सहायता देने की स्थिति में नहीं दिख रहा है।