हनुमान बेनीवाल ने उठाया 2018 के 9322 चयनित शिक्षकों का मुद्दा

नेशनल दुनिया, जयपुर।

नागौर के सांसद हनुमान बेनीवाल ने 2018 के 9322 चयनित शिक्षकों का मुद्दा उठाया। उन्होंने शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा को पीट करके एक पत्र भेजा है, जिसमें उन्होंने कहा है कि इन चयनित शिक्षकों को वरीयता के आधार पर नियुक्ति दी जाए।

राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक हनुमान बेनीवाल ने शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा को पत्र लिखा है। उन्होंने कहा है कि साल 2018 के चयनित 9322 शिक्षकों को वरीयता के आधार पर नियुक्ति दी जाए, ताकि प्रदेश में शिक्षकों की कमी दूर हो सके।

Screenshot 20200514 205906 Twitter

हनुमान बेनीवाल ने कहा है कि प्रदेश में शिक्षकों की भारी कमी है, लेकिन राज्य सरकार चयनित शिक्षकों को नियुक्ति नहीं दे पा रही है। जिसके चलते यह समस्या विकराल होती जा रही है प्रदेश में चयनित शिक्षक हैं, किंतु राज्य सरकार उनको नियुक्ति दे।

इससे पहले हनुमान बेनीवाल में शिक्षकों की नियुक्ति के मामले में अशोक गहलोत को भी ट्विटर के माध्यम से चेतावनी दी थी। उन्होंने कहा था कि प्रदेश में बेरोजगारों के मामले को लेकर राज्य सरकार गंभीर नहीं है, संवेदनहीनता की पराकाष्ठा पर उतरी हुई है।

गौरतलब है कि हनुमान बेनीवाल शिक्षकों के अलावा तमाम तरह के बेरोजगारों के मुद्दों को लेकर लगातार राज्य सरकार पर हमलावर रहते हैं। उन्होंने प्रदेश के बेरोजगारों की समस्याओं को प्रमुखता से उठाया है।

यह भी पढ़ें :  6×6 की कोठरी में बन्द हैं 16 आदिवासी बच्चे: डॉ. मीणा