राजस्थान में एलडीसी भर्ती और 10वीं व 12वीं की परीक्षा को लेकर शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने दी जानकारी

—राजस्थान सरकार का फैसला: फीस जमा नहीं होने पर स्कूल नहीं काटें किसी विद्यार्थी का नाम

नेशनल दुनिया, जयपुर।

एलडीसी भर्ती को लेकर उठे विवाद में शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने ब्रेक लगाने का प्रयास किया है। डोटासरा ने कहा है कि एलडीसी भर्ती को लेकर जो विवाद हुआ है, उसकी शिकायतें प्राप्त हुई है और उसके निस्तारण की मुख्यमंत्री से चर्चा हुई है।

पहले शिक्षा विभाग को सूची सौंपी जाएगी, उसके बाद जिले आवंटित होंगे

डोटासरा ने कहा कि एलडीसी भर्ती को लेकर जिले आवंटित कर पोस्टिंग देने का काम किया गया है, लेकिन शिक्षा विभाग के अधीन आने वाली एलडीसी कर्मचारियों की संख्या और उसकी पूरी सूची पहले मांगी गई है।

मुख्यमंत्री से इस बारे में चर्चा हो चुकी है और कहा गया है कि शिक्षा विभाग के अधीन आने वाले कर्मचारियों के लिस्ट दी जाए। उसके बाद वरीयता के अनुसार उनको जिले आवंटित किए जाएंगे।

10वीं और 12वीं परीक्षा पर फैसला मुख्यमंत्री करेंगे

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा है कि 10वीं और 12वीं की परीक्षा को लेकर जो भी फैसला किया जाएगा, वह मुख्यमंत्री के स्तर पर होगा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री से इस बारे में चर्चा हो गई है और बोर्ड की तरफ से अपने व्यवस्थाओं की जानकारी दे दी गई है।

शिक्षा के अधिकार के तहत ढाई लाख सीटें करने की चर्चा

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में बात करते हुए शिक्षा मंत्री ने कहा कि राजस्थान में वर्तमान में एक लाख आरटीई के तहत एडमिशन होते हैं, लेकिन इसको बढ़ाकर ढाई लाख करने पर विचार किया जा रहा है। इसको लेकर चर्चा हो चुकी है और मुख्यमंत्री को सुझाव भेजे जा चुके हैं।

यह भी पढ़ें :  एक वोट के लिए सरकार ने तोड़े सारे कायदे-कानून, राज्य के 200 जनप्रतिनिधि कोरोना की जद में!

आज मुख्यमंत्री के साथ आयोजित शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक में उठाये गए मुख्य बिंदु

LDC 2018 की हाल ही में जारी विभाग व जिला आवंटन के सबंधी शिकायतों पर चर्चा हुई, इसमें मुख्यमंत्री जी से शिक्षा विभाग को ही काउंसलिंग के माध्यम से जिला एवं स्कूल आवंटन बाबत चर्चा हुई।

शिक्षा का अधिकार(RTE) के तहत निजी स्कूलों में प्रवेश के लिए आय सीमा को 1 से 2.5 लाख करने पर चर्चा हुई।

स्कूल लेक्चरर और हेड मास्टर से प्रिंसिपल के पद पर पदोन्नति के नियमों में संशोधन के बारे में चर्चा हुई।

2nd ग्रेड (वरिष्ठ अध्यापक) के चयनितों की नियुक्ति के सबंध में चर्चा हुई।

78 को मिलेगी अनुकम्पा नियुक्ति

इसके साथ ही डोटासरा ने बताया कि ‪कल शिक्षा विभाग में 78 लोगों के अनुकंपा नियुक्ति के आदेश जारी कर दिए हैं। लॉकडाउन अवधि में सरकार का इस फैसले से निश्चित ही उन तमाम परिवारों को राहत मिलेगी, जिन्होंने अपने प्रियजनों को खोया है।‬