अनशन समाप्त विशेषज्ञ बने हनुमान बेनीवाल, विवि में 3 अनशन और धरने सम्माप्त किए

-बेनीवाल ने कहा सरकार संवेदनशीलता दिखाते हुए दे इन्हें तत्काल नियुक्ती।

जयपुर।

ऐसा लग रहा है कि राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक हनुमान बेनीवाल अनशन और धरना समाप्त विशेषज्ञ बन गए हैं। उन्होंने सोमवार को राजधानी जयपुर में पहुंचकर 3 अलग-अलग भर्तियों में नियुक्ति की मांग को लेकर चल रहे धरनों को खत्म करवाया।

बेनीवाल ने मुख्य सचिव से बात कर धरना समाप्त करवाया। वहीं, सवाई मानसिंह अस्पताल पहुंचकर आरएएस-2016 में नियुक्ति की मांग को लेकर अनशन कर रहे महेश गुर्जर, रोहित सांखला, अशोक विश्नोई व महेश मूंड से मुलाकात की।

बेनीवाल ने चिकित्सकों को इनका समुचित ईलाज के निर्देश दिया और वहीं पर उनका भी अनशन समाप्त करवाया।

गौरतलब है कि राजस्थान यूनिवर्सिटी में आरएएस-2016 में चयनित अभ्यर्थी नियुक्ति की मांग, तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती परीक्षा 2012 में उच्च न्यायालय के निर्देशों की पालना में छाया पद सृजित कर
नियुक्ति की मांग, पंचायती राज कनिष्ठ लिपिक एवं एसएसआर 2013 की समस्त भर्तियों की मांग को लेकर चल रहे अनशन व धरने समाप्त करवाए।

हनुमान बेनीवाल ने अलग-अलग पहुंचकर उनकी मांग को विस्तृत सुना और राज्य के मुख्य सचिव डीबी गुप्ता से फोन पर बात कर उनकी मांगों का समुचित समाधान निकालने के आश्वासन देकर धरना समाप्त करवाया।

बेनिवाल ने कहा कि आगामी दिनों में चलने वाली विधानसभा में इस मामले को पुरजोर तरीके से उठाया जाएगा। हनुमान बेनीवाल ने कहा कि आज राजस्थान प्रशासनिक सेवाओं में चयनित अभर्थियों नियुक्ति की मांग को लेकर धरना दे रहे हैं। विभिन्न धरनों के बावजूद शासन संवेदनशील नही है।

उन्होंने जारी प्रेस बयान में कहा कि युवा राज्य के कर्णधार हैं, ऐसे में उनके हितों से खिलवाड़ बर्दास्त नहीं किया जाएगा। बेनीवाल पहले भी दो धरने-अनशन समाप्त करवा चुके हैं।

यह भी पढ़ें :  राजस्थान में किसानों को प्रदेश सरकार भी देगी 750 रुपए पेंशन