13 पॉइंट रोस्टर: SC, ST, OBC वर्ग की 58 से 100% सीटें चली जाएंगी GENERAL कोटे में

जयपुर।

साल 2017 में इलाहाबाद हाईकोर्ट के द्वारा 200 पॉइंट रोस्टर की जगह 13 पॉइंट रोस्टर लागू करने और 22 दिसंबर 2018 को इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले को बरकरार रखते हुए सुप्रीमकोर्ट द्वारा विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) और मानव संसाधन एवं विकास मंत्रालय (MHRD) की SLP को खारिज करने के बाद एससी, एसटी और ओबीसी वर्ग को विश्वविद्यालयों-कॉलेजों में 58% से लेकर 100% तक नुकसान हो रहा है।

fb img 15491765188713237069194605658555

इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले को बरकरार रखते हुए सुप्रीमकोर्ट द्वारा 200 प्वाइंट रोस्टर के स्थान पर 13 पॉइंट रोस्टर से शिक्षक भर्ती की जाती है तो इससे होने वाले नुकसान को देखते हुए बहुजन समाज वर्ग (SC, ST, OBC), जिनकी करीब 85% आबादी है, के अभ्यार्थियों और यहां तक कि विश्वविद्यालयों के शिक्षकों में भी भारी रोष है। इन्होंने सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के खिलाफ केंद्र सरकार से अध्यादेश लाने की मांग की है।

fb img 15491765110031527515099893674470

इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले पर मार्च 2018 को विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) द्वारा सभी विश्वविद्यालयों को शिक्षक भर्ती पर रोक लगाई गई थी। कोर्ट के आदेश से पहले तक जिन केंद्रीय व राज्य विश्वविद्यालय में शिक्षक भर्ती प्रक्रिया शुरू हो गई थी, उनमें हमारे द्वारा की गई खोजबीन के आधार पर यह कहा जा सकता है कि 13 पॉइंट रोस्टर आरक्षित वर्ग के आरक्षण को निष्प्रभावी कर देता है।

img 20190203 1200245228063494926109547

इस तरह हो रहा है नुकसान

संस्थान, कुल पद, आरक्षित वर्ग के

CURAJ- 33, 17

संपूर्णानंद विवि-99, 28

काशी विवि-60, 21

ABV विवि-18, 07

HCU- 80, 39

TCU- 65, 30

PCU- 58+5, 22

JHCU- 63, 26

ऐसे में देखा जाए तो 13 पॉइंट रोस्टर से भर्ती होने पर एससी, एसटी और ओबीसी वर्ग को जबरदस्त नुकसान होता है, जबकि अनारक्षित वर्ग की सीटों में 40% फीसदी तक फायदा हो रहा है। इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले के दौरान देश के विभिन्न विश्वविद्यालयों में शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया शुरू हो गई थी।

यह भी पढ़ें :  Rajasthan में 1000 एसआई, 11000 कांस्टेबलों और 40000 ग्राम रक्षकों की होगी भर्ती

लेकिन बाद में कोर्ट के आदेश पर उसे रोक दिया। अब यदि 200 पॉइंट रोस्टर की जगह 13 पॉइंट रोस्टर से भर्ती होती है, तब देशभर में रुकी हुई शिक्षक भर्ती में इस तरह से आरक्षित वर्ग को नुकसान होता है।

img 20190203 1200314368783152824936

प्रोफेसर के पदों पर-

वर्ग, विवि इकाई, विभाग, चेंज

SC- 134, 4, -97%

ST- 59, 0, -100%

OBC- 11, 0, -100%

GEN- 732, 932, +27%

एसोसिएट प्रोफेसर की भर्ती में

वर्ग, विवि इकाई, विभाग, चेंज

SC- 264, 48, -82%

ST- 131, 6, -95%

OBC- 29, 14, -52%

GEN- 1414, 1770, +25%

असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती में-

वर्ग, विवि इकाई, विभाग, चेंज

SC- 650, 275, -58%

ST- 323, 72, -78%

OBC- 1167, 876, -25%

GEN- 2316, 3233, +40%