आप भी पा सकते हैं 55 हज़ार रुपए महीना छात्रवृत्ति, यह करना है आपको

नई दिल्ली।

यदि आप चाहते हैं कि उच्च शोध कर देश के विकास में भागीदार बनना चाहते हैं, तो देश की केंद्र सरकार आपको प्रतिमाह 55 हज़ार रुपए प्रोत्साहन राशि देती है।

पीएचडी करने के बाद पोस्ट डॉक्टरेट फेलोशिप (PDF) के तौर पर केंद्र सरकार की ओर से यह रुपया दिया जाता है। पढ़ने के साथ शोध करने के शौकीन छात्रों को उच्च शिक्षण शोध के लिए यह मोटा पैसा दिया जाता है।

नेशनल पोस्ट डॉक्टरेट फेलोशिप (NPDF) के तौर पर आप भी दो साल के लिए योग्य हो सकते हैं, बशर्ते आपने अपनी पीएचडी, पीडी की पढ़ाई पूरी कर ली हो। देश के अलावा वैसे तो हाई लेवल रिसर्च के लिए कई तरह की छात्रवृत्ति दी जाती है, किन्तु दो साल तक दी जाने वाली इस 55 हज़ार रुपए माह के अलावा 2 लाख रुपए सालाना और एक लाख रुपए सालाना अधिक मिलता है।

हाल ही में साइंस और इंजीनियरिंग में एनपीडीएफ के तहत आवेदन मांगे हैं। कोई भी 35 साल तक के शोधार्थी इसके लिए एप्लाई कर सकते हैं। एससी, एसटी और ओबीसी के शोधार्थियों को आयु में 5 साल की छूट दी गई है।

अधिकतम 2 साल के लिए यह राशि दी जाती है। हालांकि, यह राशि आयकर सीमा के तहत इनकम टैक्स के दायरे में आती है। हर साल केंद्र सरकार इसी तरह से अलग अलग विषयों में प्रोत्साहन राशि दी जाती है।

यह भी पढ़ें :  बिना जांच होगी एससी-एसटी एक्ट में गिरफ्तारी, सुप्रीम कोर्ट की मंजूरी