26 हज़ार रीट शिक्षकों को जल्द मिलेगी खुशखबरी

Nationaldunia

जयपुर/जोधपुर।

करीब एक साल से सरकारी नौकरी की आस लगाए बैठे रीट प्रथम लेवल से चयनित प्रदेश के 26 हज़ार से ज्यादा शिक्षकों को जल्द खुशखबरी मिलने वाली है।

राजस्थान हाई कोर्ट ने आज इस मामले में सुनवाई पूरी कर फैसला सुरक्षित रख लिया है। चयनित अभ्यर्थियों की ओर से राज्य सरकार के महाधिवक्ता महेंद्र सिंह सिंघवी ने पैरवी करते हुए जोरदार तरीके से पक्ष रखा।

आपको बता दें कि रीट लेवल प्रथम के 26 हज़ार पदों पर भर्ती के लिए परीक्षा आयोजन बीते साल फरवरी की 11 तारीख को हुई थी। उसके दो माह बाद, यानी 11 अप्रेल को परिणाम जारी किया गया और 12 अप्रेल को 26 हज़ार पदों पर चयन के लिए विज्ञप्ति जारी की गई।

किन्तु 5 मई को इस भर्ती पर स्टे आ गया। उसी महीने की 31 तारीख को कटऑफ जारी करते हुए जिला आवंटन किये गए। कोर्ट के आदेश पर एक जून को पुनः कटऑफ लिस्ट जारी की गई।

2 जून को आवंटन रिवाइज किया गया। 8 तारीख को जिला आवंटन किया गया और 10 जून को जिलों के आवंटन को भी रिवाइज किया गया। जुलाई के महीने में काउंटिंग पूरी की गई।

इसके बाद 11 सितंबर को कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया। इसके बाद 8 अक्टूबर को फैसला आया और बोनस अंक समेत तमाम याचिकाएं खारिज़ कर दी गई।

लेकिन 23 अक्टूबर 2018 को इस भर्ती पर डबल बैंच से फिर स्टे आ गया। इसके बाद राज्य में विधानसभा चुनाव की प्रक्रिया शुरू हो गई। प्रदेश में 11 दिसम्बर को परिणाम आया, जिसमे राज्य की सरकार बदल गई।

यह भी पढ़ें :  बेवजह वाहन लेकर निकलने वालों पर पुलिस सख्ती से कार्रवाई करेगी

नई सरकार के मुखिया और उप मुखिया के समक्ष reet अभ्यर्थियों ने मजबूत वकील से पैरवी करवाने के लिए जयपुर में उपेन यादव के नेतृत्व में मुलाकात की। उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने अगले ही दिन राज्य के महाधिवक्ता महेंद्र सिंह सिंघवी से पैरवी का वादा किया।

इसके बाद तय समय पर 16, 17, 18 और 19 जनवरी को, यानी आज लगातार सुनवाई हुई। आज कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया है। उपेन यादव का कहना है कि सभी चयनित 26 हज़ार शिक्षकों को जल्द खुशखबरी मिलने की उम्मीद है।