हनुमान बेनीवाल ने समझा युवाओं का दर्द, अब सरकार लेगी फैसला

जयपुर।

राजस्थान विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार के अंदर बीते 11 दिन से धरने और अनशन पर बैठे आर ए एस मुख्य परीक्षा 2018 के अभ्यर्थियों की पीड़ा राजस्थान विधानसभा में राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक हनुमान बेनीवाल ने उठाई है।

राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा के दौरान ‘पॉइंट ऑफ इंफॉर्मेशन’ के माध्यम से खींवसर विधायक हनुमान बेनीवाल ने कहा कि बीते 11 दिन से कड़ाके की ठंड में ओबीसी वर्ग के साथ हजार से ज्यादा अभ्यर्थी परेशान है और पेंशन दे रहे हैं। राज्य सरकार से उन्होंने निवेदन किया की परीक्षा की तिथि कम से कम तीन-चार माह बढ़ाकर उनको राहत प्रदान करें।

हनुमान बेनीवाल ने कहा राजस्थान लोक सेवा परीक्षा-2018 की तैयारी करने वाले ओबीसी स्टूडेंट्स को राजस्थान हाई कोर्ट के माध्यम से मुख्य परीक्षा में शामिल होने की अनुमति मिली है, लेकिन उनको तैयारी का वक्त नहीं मिला, जिसके कारण परेशान है और धरने पर बैठे हैं।

इसके साथ हनुमान बेनीवाल आर ए एस परीक्षा 2016 के 725 स्टूडेंट्स को भी राज्य सरकार के द्वारा सुप्रीम कोर्ट से अपील वापस लेकर राहत देने की मांग की है। उन्होंने कहा कि 725 चयनित हो चुके अफसर अब 15 माह से मानसिक प्रताड़ना झेल रहे हैं, इसलिए राज्य सरकार उनके प्रति संवेदनशीलता दिखाएं और सुप्रीम कोर्ट से केस वापस लेकर जॉइनिंग देने का काम करें।

हनुमान बेनीवाल के द्वारा पॉइंट ऑफ इंफॉर्मेशन के माध्यम से उठाए गए इन दो प्रश्नों के जवाब में सार्वजनिक यातायात मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि पूरा प्रकरण राज्य सरकार और मुख्यमंत्री उपमुख्यमंत्री के संज्ञान में है और इस विषय पर गंभीरता से बात की जा रही है, जल्द ही प्रकरण को लेकर अच्छी खबर सामने आने वाली है।

यह भी पढ़ें :  एसएमएस अस्पताल से 11.25 करोड़ रुपये के 2.50 लाख मास्क गायब, लाइफ लाइन के घोटालेबाजों पर शक