उप्र : कान्हा गौशाला में 10 गायों के मरने का आरोप, ईओ का इनकार

उप्र : कान्हा गौशाला में 10 गायों के मरने का आरोप, ईओ का इनकार

[ad_1]

बांदा, 5 जनवरी (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश में बांदा जिले की तिंदवारी नगर पंचायत के अधीन कान्हा गौशाला में शनिवार रात कथित तौर पर ठंड लगने से 10 गायों की मौत हो गई है। लेकिन अधिशासी अधिकारी (ईओ) ने मृत गायों को पालतू बताया है।
तिंदवारी कस्बे के सामाजिक कार्यकर्ता रामनरेश पटेल ने रविवार को सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को भेजे शिकायती पत्र में आरोप लगाया है कि शनिवार रात भूख और ठंड से नगर पंचायत के अधीन कान्हा पशु आश्रय केंद्र (सरकारी गौशाला) में 10 गायों की मौत हो गई है, जिन्हें नगर पंचायतकर्मी बिना पोस्टमॉर्टम कराए ही जमीन में गड्ढा खोदकर दफना दिए हैं।

शिकायतकर्ता ने अपनी शिकायत के साथ दफनाई जा रही गायों का वीडियो भी भेजा है।

पटेल ने यह भी कहा कि यहां चार-छह गायें रोजाना मर रही हैं।

हालांकि, नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारी (ईओ) अमर बहादुर सिंह ने कहा कि मृत गायें उनकी गौशाला की नहीं हैं। गौशाला में कुल 231 गायें हैं, जो सभी सुरक्षित हैं और सबकी टैगिंग है।

उन्होंने कहा, नगर में लोगों की तमाम पालतू गायें रोजाना मरती हैं, जिन्हें बस्ती में फेंक दिया जाता है। मृत गायों से दरुगध न फैले, इसलिए पंचायतकर्मी उन्हें ट्रैक्टर-ट्रॉली में लादकर बस्ती से बाहर फेंकते हैं और बाद में जमीन में गड्ढा खोदकर दफना दिया जाता है।

— आईएएनएस

[ad_2]

यह भी पढ़ें :  आजादी घटी, तानाशाही बढ़ी : लालू