जयपुर।

पुलिस के अधिकारियों और कर्मचारियों द्वारा जरूरी वर्दी नहीं पहनने को लेकर राजस्थान पुलिस महानिदेशक कपिल गर्ग ने गंभीरता से लिया है।

उन्होंने एक आदेश जारी करते हुए सभी अधिकारियों, पुलिस अधीक्षक, डिप्टी पुलिस अधीक्षक, थाना अधिकारियों समेत तमाम जवानों को वर्दी पहनने के सख्त निर्देश जारी किए हैं।

डीजीपी कपिल गर्ग ने अपने आदेश में कहा है कि कोई भी पुलिस का अधिकारी या जवान जरूरी वर्दी में नहीं होगा, तो उसके खिलाफ नियमानुसार सख्त कार्रवाई की जाएगी।

राजस्थान पुलिस मुख्यालय में तैनात अधिकारियों और कर्मचारियों को भी इस मामले में निर्देश जारी किया गया है। मुख्यालय में तैनात अधिकारियों को और कर्मचारियों को कहा गया है कि सोमवार को निर्धारित वर्दी पहनकर आएं, बाकी दिनों सामान्य वेशभूषा में आ सकते हैं।

इसके साथ ही डीजीपी ने कहा है कि कोई भी पुलिस का अधिकारी या जवान जींस, टीशर्ट और स्पोर्ट्स यूज़ में नजर नहीं आएगा पुलिस अकादमी ओं में भी दोपहर बाद पुलिसकर्मी स्पोर्ट्स यूनिफार्म पहन सकते हैं।

रैंज, जिला और यूनिट कार्यालयों में तैनात पुलिस के अधिकारी और जवान भी बुधवार को छोड़कर हमेशा निर्धारित यूनिफॉर्म पहनकर ही ऑफिस आएंगे। ऐसा नहीं करने पर उनके खिलाफ एक्शन लिया जाएगा।

बुधवार के दिन भी में ड्यूटी होने पर संबंधित अधिकारियों और जवान को निर्धारित पुलिस की वर्दी पहनी होगी। प्रशिक्षण केंद्रों पर बुधवार और शनिवार को सामान्य वर्दी पहन सकते हैं, लेकिन बाकी दिन वर्दी पहननी होगी। प्रशिक्षण केंद्रों पर दोपहर बाद स्पोर्ट्स यूनिफार्म पहनी जा सकती है।

पुलिस मुख्यालय में तैनात अर्दली और ड्राइवरों को भी हमेशा पुलिस की निर्धारित वर्दी पहनी होगी। केवल सीआईडी और अपराध शाखा में कार्यरत पुलिसकर्मी सामान्य वर्दी पहन सकते हैं, लेकिन उनको भी जींस, टीशर्ट और स्पोर्ट्स शूज पहनने की मनाही होगी।

दरअसल, पुलिस मुख्यालय के द्वारा पहले भी इस बाबत आदेश जारी किए जा चुके हैं, लेकिन रेंज, जिलों और यूनिटों में काम करने वाले वरिष्ठ अधिकारी व कर्मचारी पुलिस मुख्यालय के इस आदेश को धत्ता बता रहे हैं। जिसके चलते कई बार फील्ड में भी यह अधिकारी कैजुअल ड्रेस में नजर आ जाते हैं।

पुलिस महानिदेशक का मानना है कि पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों और वरिष्ठ कर्मचारियों के द्वारा निर्धारित वर्दी नहीं पहनने के कारण निचले स्तर पर काम करने वाले पुलिसकर्मियों और सामान्य जनता में पुलिस में पुलिस की वर्दी के लिए सम्मान की भावना कम हो रही है।

Leave a Reply