school childeran

जयपुर।

राजकीय विद्यालयों में विषेश अवसरों पर अतिथियों, खासकर नेताओं के आने पर विद्यार्थियों द्वारा फूल बरसाने की परम्परा और उनके इंतजार में खड़े रहने की परम्परा पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी गई है।

शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने गुरूवार को ‘सीएसआर काॅन्क्लेव’ में इस संबंध में घोषणा करते हुए अधिकारियों को तुरंत जरूरी निर्देश कर दिए हैं। उन्होंने कहा कि विद्यार्थी किसी भी समाज के भविष्य की नींव होते हैं।

यह उचित नहीं है कि अतिथियों के आगमन पर बच्चे उनके इन्तजार में कार्यक्रम देरी होने पर घंटों खड़े रहें और उनके आगमन पर फूल बरसाएं। उन्होंने इस गलत परिपाटी पर तत्काल रोक लगाए जाने और इसे सभी स्तरों पर शिक्षा अधिकारियों को किए जाने के निर्देश दिए हैं।

शिक्षा विभाग में विषेश कार्यक्रमों में मोमेन्टो और गुलदस्ते दिए जाने की परम्परा पर भी रोक लगा दी गई हैं। विभाग में अब अतिथियों को खास अवसर पर गुलदस्तों के स्थान पर पौधे दिए जाने की परम्परा प्रारंभ की गई है।

इसे सभी स्तरों पर अपनाने की अपील की है। उन्होंने कहा कि पर्यावरण प्रदूषण को रोके जाने, स्वच्छता और अपव्यय को रोके जाने के लिए यह जरूरी है कि फूलों के गुलदस्तों को दिए जाने की परम्परा छोड़ी जाए।