जयपुर।

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने देश भर में फैले 250 से अधिक खेल संघों पर शिकंजा कसने की तैयारी कर ली है। खेल संघों द्वारा की जाने वाली मनमानी और राजनीति को स्वीकार करते हुए केंद्रीय खेल मंत्री ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी सरकार इस योजना के तहत एक ऐसी बॉडी का गठन करने जा रही है, जो देश के सभी खेल संघों की गतिविधियों पर पैनी नजर रखेगी।

केंद्रीय खेल मंत्री राज्यवर्धन राठौड़ ने जयपुर में पत्रकारों के साथ अनौपचारिक बातचीत के दौरान यह बात कही। उन्होंने यह भी कहा कि केंद्र सरकार खेलों को बढ़ावा देने के लिए युद्ध स्तर पर काम कर रही है, जिसके परिणाम सामने आने लगे हैं।

इसके साथ ही राज्यवर्धन राठौड़ ने बताया कि देशभर के सभी कोच की एक लिस्ट तैयार की जाएगी, जिसको एक एप्लीकेशन में संजोया जाएगा। इससे किसी भी खेल, किसी भी राज्य, किसी भी जिला, और तहसील स्तर पर कोई भी व्यक्ति अपने मोबाइल के द्वारा कोच की तलाश पूरी कर सकेगा।

उन्होंने बताया कि दुनिया भर में भारत ऐसा पहला देश होगा जिसके पास प्रशिक्षणदाताओं का एक बैंक होगा। इसके द्वारा कोई भी व्यक्ति अपने बच्चों को कोचिंग दिलवाने के लिए भटकने के बजाय एप्लीकेशन पर जाएगा, वहां पर से संबंधित खेल के संबंधित इलाके में मजूद कोच पर पहुंच सकेगा।

एक सवाल का जवाब देते हुए राज्यवर्धन राठौड़ ने कहा कि केंद्र सरकार “खेलो इंडिया” के माध्यम से गत वर्ष से देशभर में 1500 नए खिलाड़ियों को तरस रही है, जबकि इसी योजना के तहत इस साल एक बार फिर 1000 खिलाड़ियों को तराशने का काम शुरू किया जा चुका है।

अपने लोकसभा क्षेत्र में “महाखेल-2019” आयोजन का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि “खेलो इंडिया” के से प्रेरित होकर ही उन्होंने अपने संसदीय क्षेत्र में युवाओं को खेलों में आकर्षण बढाने के लिए पिछले तीन साल से इस तरह के आयोजन करने शुरू किए हैं। कबड्डी, खो-खो के बाद इस साल दौड़ और रस्साकशी का आयोजन किया जा रहा है।

Leave a Reply