25 सितंबर को भारत बंद, 3 कृषि विधायकों के खिलाफ किसान उतरेंगे सड़कों

नई दिल्ली। केंद्र सरकार के द्वारा हाल ही में संसद में पारित किए गए तीन कृषि विधायकों के खिलाफ 25 सितंबर को भारत बंद का ऐलान किया गया है। पूरे देश में चक्काजाम किया जाएगा।

भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष राकेश टिकैत ने कहा है कि पूरे देश से करीब दो दर्जन किसान संगठनों के द्वारा इसके लिए सहमति दे दी गई है। 25 सितंबर को पूरे देश भर में चक्का जाम किया जाएगा। किसान संगठन सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करेंगे।

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष राकेश टिकैत ने बताया कि हरियाणा, पंजाब, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, तेलंगाना, गुजरात के किसानों के द्वारा सहमति दी गई है, अन्य प्रदेशों में भी किसान संगठनों से बात की जा रही है।

उन्होंने बताया कि हाल ही में केंद्र सरकार के द्वारा जो तीन कृषि विधेयक पास किया गया गए हैं, उनमें न्यूनतम समर्थन मूल्य खत्म करने, मंडियों का प्रावधान हटाने जैसे काम किए गए हैं। यह एक तरह से किसानों को कॉरपोरेट जगत के हवाले करने के बिल हैं।

उल्लेखनीय है कि केंद्र के नरेंद्र मोदी सरकार के द्वारा पिछले दिनों संसद में कृषि सुधार के लिए तीन विधायक पास किए गए थे। जिनमें पहला मंडी में किसान के द्वारा अपना उत्पादन बेचने की पाबंदी हटाने, दूसरा कारोबारियों के लिए स्टॉक लिमिट खत्म करने और तीसरा कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग को बढ़ावा देने के लिए विधायक लाया गया।

इन तीनों विधायकों के खिलाफ राज्यसभा में भी जबरदस्त हंगामा हुआ। इसके चलते राज्यसभा के 8 सांसदों को पूरे सत्र के लिए निर्धारित किया गया था। जिन्होंने संसद भवन परिसर में रात भर धरना दिया था।

यह भी पढ़ें :  कोबरा पोस्ट के स्टिंग आॅपरेशन ने दैनिक भास्कर, जागरण, डीएनए, यूएनआई समेत 16 मीडिया घरानों को कर दिया नंगा—

राज्यसभा अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी गई है, लेकिन देश भर के किसान संगठनों में इन तीनों विधायकों के खिलाफ जबरदस्त रोष है। उसका फायदा उठाने के लिए विपक्षी दलों के द्वारा किसान संगठनों को उकसाने का काम किया जा रहा है।