32 C
Jaipur
मंगलवार, अक्टूबर 27, 2020

रविवार को राज्य सभा में हुए हंगामे के पीछे क्या नंबर गेम था?

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली, 23 सितंबर (आईएएनएस)। राज्यसभा में रविवार को कृषि संबंधी दो विवादास्पद विधेयकों को लेकर हुए हंगामे के पीछे कारण क्या नंबर गेम था? यदि कोई विपक्ष की बातों पर विश्वास करता है, तो ऐसा हो सकता है। हालांकि सरकार ने कहा है कि उसके पास विधेयक पास कराने के लिए जरूरी नंबर हैं।
हंगामे को लेकर जब सदन में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने राज्यसभा में कहा कि सरकार के पास पर्याप्त संख्या नहीं है और इसीलिए उसने कृषि बिल पास करने में अपनी विफलता को छुपाने के लिए आराजकता पैदा की, तो इस आरोप को अस्वीकार कर दिया गया।

संसदीय मामलों के मंत्री प्रल्हाद जोशी ने कहा है कि सरकार के पास भले ही विधेयक के समर्थन में 115 सदस्य हैं फिर भी विधेयकों को पारित किया जाएगा। बदले में उन्होंने विपक्ष को ही हंगामे के लिए दोषी ठहराया।

- Advertisement -satish poonia

बता दें कि रविवार को हाउस में 2 सीटें खाली होने के बाद कुल संख्या 243 थी, ऐसे में बहुमत के लिए 122 की जरूरत थी। ऐसे में कुछ सहयोगी दल जैसे बीजद, टीआरएस और एसएडी द्वारा विधेयकों का विरोध करने पर सरकार के लिए स्थिति मुश्किल हो गई थी।

बीजू जनता दल के सांसद प्रसन्ना आचार्य ने बिलों को प्रवर समिति को भेजने की मांग की, जबकि तेलंगाना राष्ट्र समिति ने बिलों का पूरी तरह से विरोध किया है।

इसे लेकर नंबर गेम की बात करें तो भारतीय जनता पार्टी के पास 86 सदस्य, जनता दल-यूनाइटेड के 5 और नामित 3 सदस्य थे। बीपीएफ, आरपीआई, एलजेपी, पीएमके, एनपीपी, एमएनएफ, एसडीएफ और 1 निर्दलीय मिलाकर सरकार को कुल 103 सांसदों का समर्थन प्राप्त था।

लेकिन कांग्रेस के दावे के मुताबिक विपक्ष के पास 107 विधायक थे। इसमें कांग्रेस के 40, आप के 3, टीएमसी के 13, बीएसपी के 4, एसपी के 8, वाम दल के 6, डीएमके के 7 हैं। इसके अलावा राजद, राकांपा और एसएडी और अन्य क्षेत्रीय दलों के सदस्य भी हैं।

ऐसे में इन विधेयकों के पारित होने के लिए गैर-एनडीए और गैर-यूपीए पार्टियां महत्वपूर्ण थीं। इनमें बीजेडी के 9 और टीआरएस के 7 सदस्य हैं। इसमें वाईएसआरसीपी और एआईएडीएमके आदि के सदस्य भी शामिल हैं।

सत्तारूढ़ दल ने कहा कि कई विपक्षी सांसद उपस्थिति में नहीं थे और इसलिए सरकार को विधेयकों को पारित करना पड़ा। लेकिन विपक्ष ने कहा कि बीजद, टीआरएस और 19 सदस्यों वाले अकाली दल ने कृषि विधेयकों को रोक दिया है।

बता दें कि रविवार को उच्च सदन में जमकर हंगामा हुआ था, जिसके चलते सभापति एम. वेंकैया नायडू ने 8 सदस्यों को निलंबित कर दिया था।

–आईएएनएस

एसडीजे-एसकेपी

National Dunia से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर लाइक और Twitter, YouTube पर फॉलो करें.

- Advertisement -
रविवार को राज्य सभा में हुए हंगामे के पीछे क्या नंबर गेम था? 2
Ram Gopal Jathttps://nationaldunia.com
नेशनल दुनिआ संपादक .

Latest news

रावलपिंडी : पुलिसकर्मियों के लिए टिकटॉक के इस्तेमाल पर पाबंदी

रावलपिंडी, 27 अक्टूबर (आईएएनएस)। रावलपिंडी में एक वीडियो के वायरल होने के बाद पुलिस अधिकारियों को टिकटॉक के इस्तेमाल से प्रतिबंधित कर दिया गया।...
- Advertisement -

ऑरेंज कैप राहुल के पास, रबादा के पास पर्पल कैप बरकरार

शारजाह, 27 अक्टूबर (आईएएनएस)। आईपीएल-13 में 46 मैचों की समाप्ति के बाद किंग्स इलेवन पंजाब के कप्तान लोकेश राहुल ने ऑरेंज कैप और दिल्ली...

बिस्ला, रसेल समेत 5 विदेशी खिलाड़ी लंका प्रीमियर लीग से बाहर हुए

कोलंबो, 27 अक्टूबर (आईएएनएस)। भारत के मनविंदर बिस्ला, वेस्टइंडीज के आलराउंडर आंद्रे रसेल और दक्षिण अफ्रीका के फाफ डु प्लेसिस सहित पांच विदेशी खिलाड़ियों...

लॉकडाउन से गोवा पर्यटन को 1,000 करोड़ रुपये का नुकसान

पणजी, 27 अक्टूबर (आईएएनएस)। देशभर में लगाए गए लॉकडाउन का प्रतिकूल प्रभाव लगभग सभी स्तरों पर पड़ा है। गोवा भी इससे अछूता नहीं रहा...

Related news

RLP पंचायत समिति और जिला परिषद सदस्य चुनाव अकेले लड़ेगी, फिर हुंकार भरेंगे हनुमान

जयपुर। नागौर के सांसद हनुमान बेनीवाल की राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी प्रदेश में आने वाले दिनों में होने वाले पंचायती राज व जिला...

सरकार को 10 दिन समय, बेरोजगार फिर आंदोलन की राह तलाशेंगे: यादव

-अधिकारियों की तानाशाही और मंत्रियों की लापरवाही को लेकर राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ ने आंदोलन की दी चेतावनी, सरकार को दिया 10...

पटाखा और प्रदूषण मुक्त हरित दिवाली का संकल्प लें : दिल्ली सरकार

नई दिल्ली, 25 अक्टूबर (आईएएनएस)। दशहरा के अवसर पर दिल्ली सरकार ने प्रदूषण और कोरोना रूपी रावण को हराने का आह्वान किया है। दिल्ली...

यूडी टैक्स माफ करने जैसे 40 वादों के साथ जयपुर, जोधपुर, कोटा नगर निगम चुनाव में उतरी भाजपा

जयपुर। भारतीय जनता पार्टी ने 40 वादों के साथ जयपुर, जोधपुर, कोटा के नगर निगम चुनाव में कदम रख दिया है। कोरोनकाल...
- Advertisement -