25 C
Jaipur
गुरूवार, अक्टूबर 29, 2020

दिल्ली हिंसा : उमर खालिद की परिजनों से मिलने के अनुरोध वाली याचिका खारिज

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली, 21 सितम्बर (आईएएनएस)। राष्ट्रीय राजधानी की एक अदालत ने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के पूर्व छात्र उमर खालिद की उस याचिका को खारिज कर दिया है, जिसमें उसने पुलिस हिरासत के दौरान अपने परिवार से मिलने की इजाजत मांगी थी। खालिद को कड़े आतंकवाद रोधी कानून, गैर कानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम के तहत गिरफ्तार किया गया है।
पूर्वोत्तर दिल्ली में इस साल फरवरी में सांप्रदायिक हिंसा की बड़ी साजिश के मामले में खालिद को दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ (स्पेशल सेल) की ओर से 13 सितंबर को गिरफ्तार किया गया था। वह 24 सितंबर तक 10 दिन की पुलिस हिरासत में है।

जेएनयू के पूर्व छात्र ने अदालत का दरवाजा खटखटाते हुए अनुरोध किया था कि उसे उसके परिवार से दो दिनों के लिए 30 मिनट की अवधि तक मिलने की इजाजत दी जाए। खालिद के वकील त्रिदीप पाइस ने अदालत को सूचित किया कि परिवार से मिलने के लिए पुलिस द्वारा उन्हें एक मौखिक आश्वासन दिया गया था, लेकिन बाद में उन्हें अनुमति से इनकार कर दिया गया।

- Advertisement -satish poonia

विशेष लोक अभियोजक अमित प्रसाद ने अदालत को अवगत कराया कि मुलाकात पूछताछ को प्रभावित कर सकती है और बाधा उत्पन्न कर सकती है। यह दलील दी गई कि आरोपी पहले से ही अपने वकील के साथ मुलाकात कर रहा है और अगर उसे अपने परिवार के सदस्यों को कोई संदेश देना है, तो वह उन्हें बता सकता है।

प्रसाद ने आगे कहा कि उनकी हिरासत के दौरान आरोपी के परिवार को आरोपी के साथ मिलने की अनुमति देने के लिए सीआरपीसी में कोई प्रावधान नहीं है। उन्होंने साथ ही यह भी प्रस्तुत किया कि जेल नियमों के अनुसार न्यायिक हिरासत के दौरान मुलाकात की अनुमति है।

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश ने 19 सितंबर को अपने आदेश में कहा, ह्लतथ्यों को पूर्णता में देखते हुए और मामले की परिस्थितियों पर गौर करने के बाद मुझे यह आवेदन विचार योग्य नजर नहीं लगता। याचिका को खारिज किया जाता है।ह्व

प्रसाद ने पहले खालिद की 10 दिन की पुलिस हिरासत की मांग की थी ताकि वह 11 लाख पन्नों वाले दस्तावेज से उसका सामना करा सके।

खालिद पर नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों को उकसाकर सांप्रदायिक अशांति फैलाने के लिए आपराधिक साजिश रचने का आरोप है।

इसके अलावा दिल्ली हिंसा को लेकर विभिन्न मामलों में दायर आरोप पत्र (चार्जशीट) में भी खालिद का नाम है।

सीएए समर्थकों और इसके खिलाफ प्रदर्शन करने वाले लोगों के बीच 24 फरवरी को पूर्वोत्तर दिल्ली में झड़प हो गई थी, जो कि जल्दी ही सांप्रदायिक हिंसा में बदल गई। इसमें कम से कम 53 लोगों की मौत हो गई थी और 200 के करीब घायल हुए थे।

–आईएएनएस

एकेके/जेएनएस

National Dunia से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर लाइक और Twitter, YouTube पर फॉलो करें.

- Advertisement -
दिल्ली हिंसा : उमर खालिद की परिजनों से मिलने के अनुरोध वाली याचिका खारिज 2
Ram Gopal Jathttps://nationaldunia.com
नेशनल दुनिआ संपादक .

Latest news

जर्मनी में क्वारंटीन बैडमिंटन खिलाड़ी जयराम, शुभंकर की मदद करेगी साई

नई दिल्ली, 29 अक्टूबर (आईएएनएस)। भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) ने गुरुवार को कहा है कि वह जर्मनी में बैडमिंटन खिलाड़ी अजय जयराम और शुभंकर...
- Advertisement -

दीया मिर्जा ने साझा की बचपन की तस्वीर

मुंबई, 29 अक्टूबर (आईएएनएस)। अभिनेत्री दीया मिर्जा ने गुरुवार को पुरानी यादों को ताजा करते हुए अपने बचपन के दिनों की एक तस्वीर साझा...

खेल मंत्री ने पूर्व हॉकी खिलाड़ी एमपी सिंह की मदद का किया वादा

नई दिल्ली, 29 अक्टूबर (आईएएनएस)। खेल मंत्री किरण रिजिजू ने गुरुवार को पूर्व हॉकी खिलाड़ियों के एक समूह को आश्वासन दिया है कि वह...

क्राइम ब्रांच ने संभाली अमन बैंसला आत्महत्या मामले की जांच

नई दिल्ली, 29 अक्टूबर (आईएएनएस)। दिल्ली पुलिस ने गुरुवार को 22 वर्षीय व्यवसायी अमन बैसला की आत्महत्या के मामले को अपराध शाखा (क्राइम ब्रांच)...

Related news

समदड़ी प्रधान पिंकी चौधरी को प्रेमी ने बनाया बंधक, फ़ोटो, वीडियो किये वायरल

बाड़मेर। जिले के समदड़ी पंचायत समिति से निवर्तमान प्रधान पिंकी चौधरी ने अशोक चौधरी नामक एक व्यक्ति, जिसको कथित तौर पर पिंकी...

समदड़ी प्रधान Pinky choudhary रहना चाहती हैं अपने पुराने पति के साथ, पर यह है बड़ा संकट

बाड़मेर। जिले के समदड़ी पंचायत समिति के निवर्तमान प्रधान पिंकी चौधरी अपने कथित प्रेमी और वर्तमान पति अशोक चौधरी से 2 महीने...

Pinky Choudhary पहले प्रेमी के साथ भागी, अब अपने पति के साथ जाना चाहती है

बाड़मेर। जिले की समदड़ी पंचायत समिति (Samdadi) प्रधान पिंकी चौधरी (Pinky Choudhary) अपने प्रेमी के साथ भाग गई। उसके साथ शादी कर...

खेत पर छोड़ने के बहाने बंधक बनाया था, प्रधान पिंकी चौधरी लौटना चाहती हैं अपने पुराने पति के पास, अशोक चौधरी से नहीं की...

बाड़मेर। जिले के समदड़ी पंचायत समिति से निवर्तमान प्रधान पिंकी चौधरी (Pinky choudhary) के द्वारा भागने और कथित तौर पर अपने प्रेमी...
- Advertisement -