आशिक के साथ रहने के लिए पति को मारा और फिर उसके शव के साथ की ऐसी घिनौनी करतूत

आगरा। यूपी के जनपद में एक पत्नी द्वारा अपने आशिक के साथ रहने की इच्छा में उसको शैतान बना दिया। इस खौफनाक को सुन कर रुह कांप जाएगी।

जिले के सिकंदरा इलाके में 11 सितंबर 2020 की रात जूतों का काम करने वाले कारीगर की मौत सड़क हादसे में हुई बताई गई, किन्तु ऐसा नहीं हुआ था। असल में उसी की पत्नी ने अपने आशिक के साथ मिलकर हत्या की थी।

पति का गला घोंटने के बाद उसका शव निर्माणाधीन पुल से फेंक दिया गया। इतना ही नहीं, अपितु पत्थर से सिर- पैरों को कुचला गय, जिससे यह घटना हादसा लगने लगे।

पुलिस ने भी पहले तो घटना पर हादसे का मुकदमा दर्ज कर लिया था, किन्तु पुलिस की जांच में सब खुलकर सामने आ गया। इसके बाद स्थानीय पुलिस ने दोनों हत्यारों को गिरफ्तार कर जेल भेजा है।

नगला सोहनलाल के निवासी जूता कारीगर गुलाब सिंह का क्षत विक्षत शव 12 सितंबर 2020 की तड़के 4 बजे घर के पास ही हाईवे वाले पुल के नीचे पड़ा मिला था। हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया इस पुल का निर्माण कार्य कर रहा है।

यहां पर काम करने वाले लोगों ने शव मिलने के बारे में पुलिस और उसके परिजनों को बताया। गुलाब सिंह के शव की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में उसके सिर और पैर में चोट लगने और कुचले जाने का मामला मिला। पुलिस का कहना है कि किसी वाहन से जोरदार टकराने पर ही इस तरह की चोटें आती हैं।

हालांकि, पहले ही दिन से गुलाब सिंह के परिजन उसकी पत्नी पर हत्या का शक जता रहे थे। उनका कहना था कि सुबह 4 बजे गुलाब सिंह घर से नहीं निकल सकता, उसको ऐसा कोई काम ही नहीं है।

यह भी पढ़ें :  वन प्रेमियों के लिए अच्छी और बड़ी खबर, हो रहा है लगातार विस्तार

इधर, पत्नी ने भी ससुराल वालों पर उसकी हत्या का आरोप लगाया था, जिसके कारण इससे पुलिस और ज्यादा उलझ गई। मृतक के पिता मवासीराम ने पत्नी के खिलाफ हत्या का मुकदमा लिखाया।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बबलू कुमार के मुताबिक शव के पोस्टमार्टम रिपोर्ट की विशेषज्ञ डॉक्टरों की राय ली गई है। मृतक गुलाब सिंह के पिता की शिकायत पर पड़ताल शुरू हुई। पत्नी के भी आरोप बेहद गंभीर थे, जिसके कारण शक बढ़ गया।

स्थानीय थाना सिकंदरा के पुलिस इंस्पेक्टर अरविंद कुमार की विवेचना में पता चला कि कागारौल निवासी 28 साल का युवक सनी नगला सोहनलाल में रहता है, जिसका गुलाबसिंह के घर आना-जाना रहता है।

पुलिस ने युवक सनी का मोबाइल नंबर खंगाला और उसकी कॉल डिटेल की पड़ताल की। इसी माह की 11 तारीख की रात उसकी बातचीत मृतक की पत्नी अनीता से हुई थी।

इसके आधार पर पुलिस ने आरोपी इवक सनी को पकड़ लिया। उससे पुलिस द्वारा कड़ाई से पूछताछ की, जिसमें सच सामने आया कि मृतक की पत्नी अनीता और सनी ने मिलकर ही गुलाब सिंह की हत्या की थी।