36 C
Jaipur
रविवार, सितम्बर 20, 2020

हिमालय के बिना भारतीय उपमहाद्वीप की कल्पना नहीं की जा सकती : निशंक

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली, 9 सितम्बर (आईएएनएस)। हिमालय दिवस का बुधवार को आयोजन किया गया। इस अवसर पर केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि हिमालय के बगैर भारतीय उपमहाद्वीप की कल्पना नहीं की जा सकती है। हिमालय दिवस के आयोजन के अवसर पर उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू भी मौजूद रहे।
हिमालय की विशेषताओं को बताते हुए केंद्रीय मंत्री निशंक ने कहा, हिमालय ज्ञान-विज्ञान, साहित्य, संगीत, योग, आयुर्वेद, कला, धर्म-अध्यात्म और साधना का महत्वपूर्ण केंद्र रहा है। यह एशिया में विशाल क्षेत्र की जलवायु का निर्माता है। तकरीबन 20,000 पौधों की प्रजातियां हिंदूकुश हिमालय क्षेत्र में पाई जाती हैं।

इसके बाद उन्होंने इसकी समस्याओं के बारे में बात करते हुए कहा, ये युवा और बढ़ते पहाड़ भूस्खलन की चपेट में हैं और प्राकृतिक खतरों से ग्रस्त हैं। वैश्विक जलवायु परिवर्तन के लिए इसकी उच्च संवेदनशीलता के कारण यह जलवायु पल्स के रूप में जाना जाता है। वैश्विक जलवायु परिवर्तन के प्रमुख प्रभावों में हिम पिघलन, ग्लेशियर संकोचन, प्रजाति बदलाव, मानव पलायन शामिल है।

हिमालय दिवस मनाने के उद्देश्य के पीछे निशंक ने कहा, हमारा उद्देश्य पर्वतीय क्षेत्रों को व्यापक रूप से विकसित करना है, इस क्षेत्र में समानता आधारित समावेशी विकास को बढ़ावा देने वाले दृष्टिकोण और ज्ञान में महत्वपूर्ण प्रगति करना, संपूर्ण हिमालय क्षेत्र मे व्यक्तिगत और संस्थागत क्षमता विकास कर विज्ञान आधारित नीतियों का विकास करना, हिमालयी क्षेत्र का व्यावहारिक विकास मॉडल तैयार करना, यहां का आर्थिक और सामाजिक विकास करना और बुनियादी सुविधाओं एवं सेवाओं का विकास करना है।

भारत सरकार के मुताबिक वैज्ञानिक विश्लेषणों से पता चलता है कि हिमालय में अपार खनिज, वन एवं जल सम्पदा है। हिमालय में संसाधनों के अपेक्षित ज्ञान के लिए हिमालय की उत्पत्ति, संरचना, खनिज, वन एवं जल संपदा आदि को अच्छी तरह से समझना होगा और तभी हम हिमालय की संपदा का पूरा और वास्तविक मूल्यांकन कर पाएंगे।

उन्होनें कहा, मुझे लगता है कि हिमालय से आने वाला हर एक व्यक्ति इस बात को भली-भांति समझ सकता है कि अगर हिमालय से जरा भी छेड़छाड़ हुई तो प्रकृति हमें माफ नहीं करेगी। हमें इस बात पर भी ध्यान देने की आवश्यकता है कि हम सब सामुदायिक भागीदारी बढ़ाते हुए सतत विकास लक्ष्यों की प्राप्ति करें।

–आईएएनएस

जीसीबी/आरएचए

National Dunia से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर लाइक और Twitter, YouTube पर फॉलो करें.

- Advertisement -
हिमालय के बिना भारतीय उपमहाद्वीप की कल्पना नहीं की जा सकती : निशंक 2
Ram Gopal Jathttps://nationaldunia.com
नेशनल दुनिआ संपादक .

Latest news

गुरुग्राम मेट्रो स्टेशन में युवती पिस्तौल के साथ पकड़ी गई

गुरुग्राम, 20 सितंबर (आईएएनएस)। गुरुग्राम के सिकंदरपुर मेट्रो स्टेशन पर सीआईएसएफ कर्मियों द्वारा एक युवती को बैग में पिस्तौल रखने के आरोप में गिरफ्तार...
- Advertisement -

भारत में 18 से 24 वर्ष की 37% महिलाएं रखती हैं लंबे समय तक सैक्स सम्बंध

-भारत में 19% महिलाओं को स्मार्टफोन पर रहती हैं पार्टनर की तलाश, देश की 62% महिलाएं कर रहीं ये काम।

भारत में 18 से 24 वर्ष की 37% महिलाएं रखती हैं लंबे समय तक सैक्स सम्बंध

-भारत में 19% महिलाओं को स्मार्टफोन पर रहती हैं पार्टनर की तलाश, देश की 62% महिलाएं कर रहीं ये काम।

डीयू के वीसी बनाएं 5 सदस्यीय कमेटी : टीचर्स एसोसिएशन

नई दिल्ली, 20 सितंबर (आईएएनएस)। दिल्ली विश्वविद्यालय के अनुसूचित जाति, जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग के शिक्षक संगठनों ने दिल्ली यूनिवर्सिटी के कुलपति (वाइस...

Related news

पिंकी प्रधान आशिक की तीसरी पत्नी बनने से पहले एक साल लिव इन रिलेशनशिप में रही!

बाड़मेर। 'पिंकी प्रधान' उर्फ समदड़ी पंचायत समिति प्रधान पिंकी चौधरी अपने आशिक अशोक चौधरी की तीसरी पत्नी बनने से पहले एक साल...

अलवर में 5-6 जनों ने बलात्कार किया, फिर मामी के साथ भांजे को शारिरीक सम्बन्ध बनवा वीडियो वायरल किया

अलवर। लोकसभा चुनाव के दरमियान अलवर में थानागाजी क्षेत्र में एक विवाहित लड़की के साथ गैंगरेप करने और उसका वीडियो वायरल करने...

दिल्ली में 5 अक्टूबर तक सभी स्कूल रहेंगे बंद : सरकार (लीड-1)

नई दिल्ली, 18 सितम्बर (आईएएनएस)। कोरोनावायरस मामलों में वृद्धी के मद्देनजर दिल्ली सरकार ने शुक्रवार को घोषणा की कि यहां 5 अक्टूबर तक सभी...

पिंकी चौधरी भागने वाली लड़कियों की रोल मॉडल बनी, चार लड़कियों ने ली प्रेरणा और प्रेमियों के साथ भाग गईं

बाड़मेर/टोंक। पिछले महीने बाड़मेर के समदड़ी पंचायत समिति की प्रधान पिंकी चौधरी के घर से भागने और आपने प्रेमी अशोक चौधरी के...
- Advertisement -