31 C
Jaipur
शनिवार, सितम्बर 19, 2020

मौजूदा और पूर्व सांसदों व विधायकों के खिलाफ 4,442 मामले लंबित : सुप्रीम कोर्ट

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली, 9 सितंबर (आईएएनएस)। सभी हाईकोर्ट द्वारा सुप्रीम कोर्ट को उपलब्ध कराए गए आंकड़ों से पता चला है कि वर्तमान और पूर्व विधायकों और सांसदों के खिलाफ लंबित आपराधिक मामलों की संख्या 4,442 है।
एमिकस क्यूरी और वरिष्ठ अधिवक्ता विजय हंसारिया द्वारा संकलित एक रिपोर्ट में कहा गया है, 2,556 मामलों में मौजूदा (सिटिंग) विधायक व सांसद आरोपी व्यक्ति हैं। ऐसे सांसद या विधायकों की संख्या ज्यादा है, जो एक से अधिक मामलों में आरोपी हैं।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता और वकील अश्विनी उपाध्याय ने सुप्रीम कोर्ट में एक जनहित याचिका (पीआईएल) दाखिल की थी। इसी की सुनवाई के दौरान शीर्ष अदालत ने यह रिपोर्ट तलब की है। पीआईएल में सिटिंग और पूर्व सांसद और विधायकों के खिलाफ लंबित आपराधिक मामलों की तेजी से सुनवाई के लिए अनुरोध किया गया था।

शीर्ष अदालत ने सभी हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार जनरलों को निर्देश दिया था कि वे सांसदों के खिलाफ लंबित मामलों के संबंध में जानकारी दर्ज करें।

हलफनामे में कहा गया है, अपराधों के संबंध में 413 मामले हैं, जो आजीवन कारावास के साथ दंडनीय हैं, जिनमें से 174 मामलों में मौजूदा सांसदों/विधायकों पर आरोप लगाए गए हैं।

हंसारिया ने अपने शपथ पत्र में वह आंकड़े भी दिए हैं, जिनमें ऐसे मामलों का भी उल्लेख है जिनमें ऊपरी अदालतों ने स्टे दिया हुआ है। ऐसे मामलों में बड़ी अदालतों के आदेश से सुनवाई स्थगित है। 352 मुकदमों में हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट के आदेश के कारण ट्रायल रोक दिया गया है।

रिपोर्ट के अनुसार, उत्तर प्रदेश में सबसे अधिक 1,217 मामले लंबित हैं, जिनमें से 446 मामलों में वर्तमान विधायक/सांसद आरोपी हैं।

उत्तर प्रदेश के बाद बिहार में कुल 531 लंबित मामले हैं, जिनमें से 256 मामलों में वर्तमान विधायक/सांसद आरोपी हैं। इसके बाद तमिलनाडु में 324, महाराष्ट्र में 330 और उड़ीसा में 331 लंबित मामले हैं।

हंसारिया ने सुझाव दिया कि सांसदों/विधायकों के लिए हर जिले में विशेष अदालतें स्थापित की जानी चाहिए। रिपोर्ट में कहा गया है कि हाईकोर्ट को ऐसे मामलों की प्रगति की निगरानी करनी चाहिए।

इसमें कहा गया है, प्रत्येक हाईकोर्ट पूर्व और वर्तमान विधि निर्माताओं से संबंधित मुकदमों की संख्या और मामले की प्रवृत्ति को देखते हुए उन्हें सुनवाई के लिए आवश्यकतानुसार सत्र अदालतों और मजिस्ट्रेट की अदालतों को नामित कर सकते हैं। हाईकोर्ट आदेश के चार सप्ताह के भीतर इस तरह का फैसला ले सकते हैं।

हलफनामे में कहा गया है कि अनेक मामले भ्रष्टाचार निरोधक कानून, धनशोधन रोकथाम कानून, शस्त्र कानून, सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने और भारतीय दंड संहिता की धारा 500 के तहत कई मामले दर्ज हैं। हंसारिया ने सुझाव दिया कि विशेष अदालतों को ऐसे मामलों को प्राथमिकता देनी चाहिए, जिनमें मृत्यु या आजीवन कारावास की सजा हो।

हलफनामे में सुझाव दिया गया है कि प्रत्येक हाईकोर्ट को राज्य में लंबित ऐसे मामलों की प्रगति की निगरानी और शीर्ष अदालत के निर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए सांसदों/विधायकों के लिए विशेष न्यायालयों के साथ एक मुकदमा दायर करना चाहिए।

–आईएएनएस

एकेके/एसजीके

National Dunia से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर लाइक और Twitter, YouTube पर फॉलो करें.

- Advertisement -
मौजूदा और पूर्व सांसदों व विधायकों के खिलाफ 4,442 मामले लंबित : सुप्रीम कोर्ट 2
Ram Gopal Jathttps://nationaldunia.com
नेशनल दुनिआ संपादक .

Latest news

बांग्लादेश के कट्टरपंथी इस्लामवादी हिफाजत प्रमुख शफी का निधन

ढाका, 19 सितंबर (आईएएनएस) हिफाजत-ए-इस्लाम बांग्लादेश के अमीर, शाह अहमद शफी का 104 वर्ष की आयु में असगर अली अस्पताल में इलाज के दौरान...
- Advertisement -

दिल्ली-एनसीआर में हमलों की योजना बना रहे अल कायदा के 9 आतंकी गिरफ्तार (लीड-1)

नई दिल्ली, 19 सितम्बर (आईएएनएस)। पश्चिम बंगाल और केरल में छापे के बाद, राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने आतंकवादी समूह अल-कायदा से जुड़े नौ...

दुबई में बच्चों से मिले संजय दत्त

दुबई, 18 सितम्बर (आईएएनएस)। बॉलीवुड अभिनेता संजय दत्त अपनी पत्नी मान्यता के साथ दुबई पहुंचने के बाद अपने बच्चों शहरान और इकरा के साथ...

कृषि विधेयक कॉर्पोरेट संस्कृति को बढ़ावा देगा: कांग्रेस नेता

जयपुर, 19 सितंबर (आईएएनएस)। राजस्थान प्रदेश कांग्रेस समिति के प्रमुख गोविंद सिंह डोटासरा ने लोकसभा में कृषि विधेयकों को पारित करने को लेकर शुक्रवार...

Related news

पिंकी प्रधान आशिक की तीसरी पत्नी बनने से पहले एक साल लिव इन रिलेशनशिप में रही!

बाड़मेर। 'पिंकी प्रधान' उर्फ समदड़ी पंचायत समिति प्रधान पिंकी चौधरी अपने आशिक अशोक चौधरी की तीसरी पत्नी बनने से पहले एक साल...

बाड़मेर: लड़की भगा ले गया शिक्षक, मिलते ही घरवालों ने किया ऐसा हाल

बाड़मेर। राजस्थान के सीमावर्ती जिले बाड़मेर में एक स्कूल के अध्यापक पर जानलेवा हमले और नाक व दोनों कान काटने की घटना सामने...

पिंकी चौधरी भागने वाली लड़कियों की रोल मॉडल बनी, चार लड़कियों ने ली प्रेरणा और प्रेमियों के साथ भाग गईं

बाड़मेर/टोंक। पिछले महीने बाड़मेर के समदड़ी पंचायत समिति की प्रधान पिंकी चौधरी के घर से भागने और आपने प्रेमी अशोक चौधरी के...

किसानों को बहकाने और बरगलाने का काम कर रहे कांग्रेस-वामपंथी दल

-मोदी सरकार के तीनों ही विधेयक क्रांतिकारी हैं, किसान को मिलेगी तरक्की, मजबूती और ताकत। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने हमेशा किसानों,...
- Advertisement -