20 C
Jaipur
बुधवार, अक्टूबर 28, 2020

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को किया जा रहा दरकिनार

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली, 4 सितम्बर (आईएएनएस)। पाकिस्तान और सऊदी अरब के बीच भाईचारे का रिश्ता, जो दशकों से घनिष्ठ आर्थिक, राजनीतिक और सैन्य साझेदारी पर बना हुआ था, उसमें पिछले महीने एक अवरोध उत्पन्न हुआ है।
अपुष्ट खबरें सामने आ रही हैं कि सऊदी अरब पाकिस्तानी सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा को सलाह दे रहा है कि पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान को पूर्व सेना प्रमुख जनरल राहील शरीफ की जगह बदला जाए, जो वर्तमान में रियाद के नेतृत्व वाले इस्लामिक मिल्रिटी अलायंस टू फाइट टेररिज्म (आईएमएएफटी) के कमांडर हैं।

पाकिस्तान के विशेषज्ञों के अनुसार, सऊदी अरब और पाकिस्तान के बीच के हालिया विवाद को मध्य पूर्व और मुस्लिम दुनिया में हालिया रणनीतिक वास्तविकताओं के व्यापक संदर्भ में देखा जाना चाहिए।

- Advertisement -satish poonia

कुछ समय से पाकिस्तान प्रतिद्वंद्वी मुस्लिम शक्तियों के साथ तटस्थ संबंधों को बनाए रखने की अपनी पारंपरिक नीति को बनाए रखने के लिए संघर्ष कर रहा है।

वहीं रियाद मुस्लिम-बहुसंख्यक राष्ट्रों के प्रति पाकिस्तान के संबंध मजबूत करने से भी निराश है, जिनमें तुर्की, मलेशिया, ईरान और कतर जैसे देश शामिल हैं। दूसरे शब्दों में, रियाद मुस्लिम दुनिया के नेतृत्व को कमजोर करने की पाकिस्तान की कोशिश पर नाराज है।

पाकिस्तान और सऊदी अरब के बीच तीखी नोक झोंक पिछले महीने तब सामने आई, जब पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने खुले तौर पर सऊदी के नेतृत्व वाले संगठन इस्लामिक सहयोग संगठन (ओआईसी) को धमकी दे डाली। कुरैशी ने ओआईसी को धमकी भरे लहजे में कहा कि या तो कश्मीर मुद्दे पर एक मंत्रिस्तरीय बैठक बुलाओ नहीं तो फिर उनकी सरकार अन्य इस्लामी देशों के साथ मिलकर इसी तरह की एक बैठक करेगी। यानी कुरैशी ने ओआईसी को जताया कि पाकिस्तान अन्य इस्लामिक देशों के साथ मिलकर संगठन के बिना ही मुद्दे को उठाएगा, जिससे रियाद काफी नाराज हो गया था।

सऊदी क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान, जो सऊदी अरब के वास्तविक शासक हैं, वह इस बात से खुश नहीं दिखे। यही वजह है कि सऊदी अरब ने इमरान खान सरकार की तरफ से कश्मीर मुद्दे पर इस्लामिक देशों के संगठन ओआईसी को अलग-थलग करने की धमकी देने के बाद पाकिस्तान के लिए ऋण पर तेल के प्रोविजन को रोक दिया।

दरअसल अक्टूबर 2018 में सऊदी अरब ने पाकिस्तान को तीन साल के लिए 6.2 अरब डॉलर का फाइनेंशियल पैकेज देने का ऐलान किया था। इसमें तीन अरब डॉलर की नकद सहायता शामिल थी, जबकि बाकी के पैसों के बदले में पाकिस्तान को तेल और गैस की सप्लाई की जानी थी। एक गंभीर आर्थिक संकट से घिरे पाकिस्तान ने सऊदी अरब से ऋण लिया था। पाकिस्तान के धमकी और चेतावनी भरे बर्ताव के कारण सऊदी ने अपनी इस वित्तीय मदद को वापस ले लिया है।

मध्य पूर्व के टिप्पणीकार अली शिहाबी का कहना है कि पाकिस्तान ने सऊदी अरब की ओर से मिलने वाली मदद को हमेशा से ही गंभीरता से नहीं लिया है। उन्होंने कहा, खैर, पार्टी खत्म हो गई है और पाकिस्तान को इस रिश्ते को महत्व देने की जरूरत है। अब फ्री लंच या वन वे स्ट्रीट नहीं है।

सऊदी-पाकिस्तान संबंध मुख्य रूप से सीधे पाकिस्तानी सेना और सऊदी किंग और क्राउन प्रिंस द्वारा नियंत्रित किए जाते हैं। इस बीच पाकिस्तान के सेनाध्यक्ष जनरल बाजवा 17 अगस्त को रियाद पहुंचे। हालांकि प्रिंस सलमान बाजवा के प्रति उदासीन रहे। उस समय ऐसी भी बातें सुनने को मिली कि राहील शरीफ और बाजवा नाराज चल रहे सऊदी को मनाने के लिए संपर्क में हैं।

–आईएएनएस

एकेके/आरएचए

National Dunia से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर लाइक और Twitter, YouTube पर फॉलो करें.

- Advertisement -
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को किया जा रहा दरकिनार 2
Ram Gopal Jathttps://nationaldunia.com
नेशनल दुनिआ संपादक .

Latest news

तुअर आयात की अवधि बढ़ने से कीमतों में आई नरमी

नई दिल्ली, 27 अक्टूबर (आईएएनएस)। केंद्र सरकार द्वारा तुअर आयात की अवधि बढ़ाने के बाद मंगलवार को तुअर के दाम में करीब 300 रुपये...
- Advertisement -

बिहार में कोरोना के 2़13 लाख मरीज, रिकवरी रेट पहुंचा 95 फीसदी से ऊपर

पटना, 27 अक्टूबर (आईएएनएस)। बिहार में कोरोना के मंगलवार को 678 नए मामले सामने आए, जिसके साथ राज्य में कोरोना मरीजों की संख्या 2,13,383...

आईपीएल-13 : हैदराबाद ने दिल्ली को 88 रनों से हराया

दुबई, 27 अक्टूबर (आईएएनएस)। सनराइजर्स हैदराबाद ने मंगलवार को यहां के दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम में खेले गए आईपीएल के 13वें सीजन के 47वें मैच...

बैंकिंग सेक्टर में जोरदार लिवाली से शेयर बाजार में रही रौनक, 40500 के ऊपर रहा सेंसेक्स (राउंडअप)

मुंबई, 27 अक्टूबर (आईएएनएस)। बैंकिंग सेक्टर में जोरदार लिवाली से घरेलू शेयर बाजार में मंगलवार को रौनक बनी रही। मजबूत कारोबारी रुझानों के बीच...

Related news

RLP पंचायत समिति और जिला परिषद सदस्य चुनाव अकेले लड़ेगी, फिर हुंकार भरेंगे हनुमान

जयपुर। नागौर के सांसद हनुमान बेनीवाल की राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी प्रदेश में आने वाले दिनों में होने वाले पंचायती राज व जिला...

सरकार को 10 दिन समय, बेरोजगार फिर आंदोलन की राह तलाशेंगे: यादव

-अधिकारियों की तानाशाही और मंत्रियों की लापरवाही को लेकर राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ ने आंदोलन की दी चेतावनी, सरकार को दिया 10...

पटाखा और प्रदूषण मुक्त हरित दिवाली का संकल्प लें : दिल्ली सरकार

नई दिल्ली, 25 अक्टूबर (आईएएनएस)। दशहरा के अवसर पर दिल्ली सरकार ने प्रदूषण और कोरोना रूपी रावण को हराने का आह्वान किया है। दिल्ली...

यूडी टैक्स माफ करने जैसे 40 वादों के साथ जयपुर, जोधपुर, कोटा नगर निगम चुनाव में उतरी भाजपा

जयपुर। भारतीय जनता पार्टी ने 40 वादों के साथ जयपुर, जोधपुर, कोटा के नगर निगम चुनाव में कदम रख दिया है। कोरोनकाल...
- Advertisement -