26 C
Jaipur
रविवार, नवम्बर 29, 2020

पतंगबाजी का शौक : 150 से अधिक पक्षियों की मौत का जिम्मेदार कौन?

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली, 18 अगस्त (आईएएनएस)। पुरानी दिल्ली में हुई पतंगबाजी ने इस बार भी सैकड़ों परिंदों से उनके उड़ने का हक छीन लिया। हर साल की तरह इस साल भी लोगों ने बेपरवाह होकर पतंगबाजी की, जिसके कारण 1000 से अधिक पक्षी घायल हुए। वहीं 150 से अधिक पक्षियों की मांझे से कट कर जान चली गई।
चांदनी चौक स्थित बर्ड हॉस्पिटल में सैंकड़ों की तादाद में वो पक्षी है जो की पतंगबाजों के शौक के चलते अस्पताल में भर्ती हुये हैं। भलेहि ही इस बार चाइनीज मांझे पर रोक लगी हो, लेकिन हिंदुस्तानी मांझों की वजह से भी पक्षियों के जीवन पर उतना ही असर पड़ा।

1 अगस्त से 15 अगस्त तक करीब 1500 पक्षी अस्पताल में भर्ती हुये हैं। जिसमें से करीब 80 फीसदी पतंगबाजी का शिकार हुए हैं। अन्य पंखे से कट कर घायल हुए हैं। इन पक्षियों में ज्यादातर कबूतर, तोते और चील हैं। हालांकि इस बार मोर भी मांझों से कट कर घायल हुये हैं।

- Advertisement -पतंगबाजी का शौक : 150 से अधिक पक्षियों की मौत का जिम्मेदार कौन? 2

पक्षियों के अस्पताल से मिली जानकारी के अनुसार 1 अगस्त से 15 अगस्त तक रोजाना करीब 10 पंक्षियों की मृत्यु हुई है। वहीं कुछ ऐसे परिंदे भी हैं जो की जिंदगी भर अब उड़ नहीं सकते।

चांदनी चौक स्थित जैन मंदिर में चल रहे दुनिया के पहले चैरिटी पक्षी अस्पताल के सचिव सुनील जैन ने आईएएनएस को बताया, 1 अगस्त से 15 अगस्त तक हमारे पास करीब 1500 पक्षी आये हैं। जिसमें से कुछ के पंख कटे हुए थे, तो वहीं कुछ पंक्षियों के गले मे गहरा घाव भी थे।

जमुना पार, वेलकम कॉलोनी और शाहदरा इलाके में ज्यादा पक्षी घायल हुए हैं। 1 अगस्त से 15 अगस्त तक 70 से 80 पक्षी अस्पताल में रोजाना भर्ती हो रहे थे।

सुनील ने बताया, मांझों की वजह से पंक्षी इतनी बुरी तरह जख्मी होते हैं कि कई पक्षियों की गर्दन तक अलग हो जाती हैं। इस बार करीब 150 से अधिक पक्षियों की मृत्यु भी हुई है। हमारे पास 1 तरीक से 15 तरीक तक 10 से 11 पक्षियों की मृत्यु हुई।

हमारे अस्पताल में पूरी कोशिश होती है कि इन पक्षियों की जान बच जाए, लेकिन पक्षी इतनी बुरी तरह घायल होते हैं कि बचाना असंभव हो जाता है।

–आईएएनएस

एमएसके/जेएनएस

National Dunia से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर लाइक और Twitter, YouTube पर फॉलो करें.

- Advertisement -
पतंगबाजी का शौक : 150 से अधिक पक्षियों की मौत का जिम्मेदार कौन? 3
Ram Gopal Jathttps://nationaldunia.com
नेशनल दुनिआ संपादक .

Latest news

‘संसदीय लोकतंत्र की मजबूती का मीडिया सारथी’

' संसदीय लोकतंत्र की मजबूती में मीडिया सारथी है, मीडिया विधानसभा सत्रों में सिर्फ दर्शक नहीं है बल्कि लोकतंत्र का दिग्दर्शक है। ' कुलदीप शर्मानर्मदा...
- Advertisement -

जैकुल शर्मा ने खरीदी प्रीमियर हैंडबॉल लीग किंग हॉक्स टीम

जयपुर। अंतर्राष्ट्रीय जैम्स एंड ज्वैलरी व्यवसायी और होटल शिव विलास के ऑनर जैकुल शर्मा ने प्रीमियर हैंडबॉल लीग (पीएचएल) के साथ खेल व्यवसाय में भी...

जैकुल शर्मा ने खरीदी प्रीमियर हैंडबॉल लीग किंग हॉक्स टीम

जयपुर। अंतर्राष्ट्रीय जैम्स एंड ज्वैलरी व्यवसायी और होटल शिव विलास के ऑनर जैकुल शर्मा ने प्रीमियर हैंडबॉल लीग (पीएचएल) के साथ खेल व्यवसाय में भी...

पर्यावरण मानकों को पूरा किए बिना चल रहा राजस्थान का सबसे बड़ा कोविड डेडिकेटेड हॉस्पिटल RUHS

—हॉस्पिटल संचालन के लिए दो साल से नहीं ली राजस्थान पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड से सहमति जयपुर। सरकार का काम जनता के हितों में नियम-कानून बनाने...

Related news

आशादीप बिल्डर की ठगी के शिकार किंग्सकोर्ट निवासी लामबंद हुए

- RERA में ढेरों शिकायतें दर्ज, कुछ कंजूमर कोर्ट की शरण में - बिल्डर को बचाने में जुटे कई रिटायर्ड ब्यूरोक्रेट्स, एक ब्यूरोक्रेट ने...

जैकुल शर्मा ने खरीदी प्रीमियर हैंडबॉल लीग किंग हॉक्स टीम

जयपुर। अंतर्राष्ट्रीय जैम्स एंड ज्वैलरी व्यवसायी और होटल शिव विलास के ऑनर जैकुल शर्मा ने प्रीमियर हैंडबॉल लीग (पीएचएल) के साथ खेल व्यवसाय में भी...

Video: 10-10 करोड़ में बिके BTP के विधायक, गहलोत के खास विधायक ने लगाये आरोप

Jaipur. जुलाई और अगस्त के महीने में जब मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और तत्कालीन उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के बीच राजनीतिक युद्ध शुरू हुआ था।...

विश्लेषण: किसानों पर water cannon से बौछार कितनी सही, कितनी खतरनाक?

रामगोपाल जाट केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार (pm narendra modi govt) द्वारा दो माह पहले संसद में पारित किए गए तीन कृषि कानून (three Farmer...
- Advertisement -