17.7 C
Jaipur
गुरूवार, अक्टूबर 29, 2020

संजीवनी घोटाला मामले में कांग्रेस हमलावर, शेखावत ने कहा, यह राजनीतिक साजिश (लीड-1)

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली, 24 जुलाई (आईएएनएस)। राजस्थान में राजनीतिक संकट ने नया मोड़ ले लिया है। जयपुर की एक अदालत ने भाजपा के केंद्रीय मंत्री गजेद्र सिंह शेखावत के खिलाफ 884 करोड़ रुपये के संजीवनी क्रेडिट कॉपरेटिव सोसायटी घोटाला मामले में उनकी भूमिका की जांच के लिए स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप(एसओजी) को आदेश दिए हैं। इसके बाद से केंद्रीय जल संसाधन मंत्री शेखावत पर कांग्रेस लगातार हमलावर बनी हुई है।
अदालत के आदेश के बाद अपनी पहली टिप्पणी में उन्होंने आईएएनएस से कहा, यह राजनीतिक साजिश है। उस मामले पर बोलना सही नहीं होगा, जो अभी कोर्ट में है।

शेखावत ने कहा, अगर कोर्ट चाहती है तो वह एकबार फिर संजीवनी मामले की जांच करा सकती है या फिर एसओजी इसकी जांच करे। यह पता चल जाएगा कि इसके पीछे कौन है। यह कांग्रेस के अंदर लड़ाई को छुपाने के लिए है।

- Advertisement -satish poonia

राजस्थान में चल रहे मौजूदा राजनीतिक हालात पर उन्होंने कहा कि स्पीकर ने नोटिस दिया था, हाइकोर्ट ने स्टे दिया है। भाजपा ने भी कहा था कि लोकतांत्रिक व्यवस्था जिस तरह से खतरे में है, उस पर कोर्ट को संज्ञान लेना चाहिए और कोर्ट ने संज्ञान लिया।

कांग्रेस ने इस नए घटनाक्रम पर शेखावत को घेरने की कोशिश की और केंद्रीय मंत्री को कैबिनेट से हटाने की मांग की।

कांग्रेस ने इसे राज्य का सबसे बड़ा पोंजी स्कैम बताया। कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा, जबतक संजीवनी क्रेडिट कॉपरेटिव सोसायटी मामले की जांच पूरी नहीं हो जाती, केंद्रीय मंत्री शेखावत को खुद इस्तीफा दे देना चाहिए या फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उन्हें उनके पद से हटा दें।

खेड़ा ने आरोप लगाया है कि राजस्थान में ऑपरेशन कमल शेखावत के इशारे पर किया गया। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि कॉपरेटिव सोसायटी को 2008 में पंजीकृत किया गया था और यह गुजरात व राजस्थान में सक्रिय है, जिसमें 2.14 लाख निवशेकों ने 883.88 करोड़ रुपये सोसायटी के खाते में जून 2019 तक जमा कराए।

शेखावत का नाम इससे पहले से राजस्थान में कांग्रेस विधायकों को खरीदने से जुड़े टेप मामले में आ चुका है।

अदालत ने यह आदेश लाडु सिंह और गुमन सिंह की याचिका पर दिया। अदालत ने आदेश देते हुए कहा कि शेखावत और अन्य के खिलाफ लगाए गए आरोप की जांच एसओजी द्वारा की जानी चाहिए।

–आईएएनएस

National Dunia से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर लाइक और Twitter, YouTube पर फॉलो करें.

- Advertisement -
संजीवनी घोटाला मामले में कांग्रेस हमलावर, शेखावत ने कहा, यह राजनीतिक साजिश (लीड-1) 2
Ram Gopal Jathttps://nationaldunia.com
नेशनल दुनिआ संपादक .

Latest news

आईपीएल-13 : मुंबई का टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला

अबू धाबी, 28 अक्टूबर (आईएएनएस)। मुंबई इंडियंस ने बुधवार को यहां शेख जाएद स्टेडियम में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के खिलाफ खेले जा रहे इंडियन...
- Advertisement -

संसदीय समिति के सदस्यों ने गलत नक्शे को लेकर ट्विटर अधिकारियों से पूछे सवाल

नई दिल्ली, 28 अक्टूबर (आईएएनएस)। भारत के लद्दाख को एक मानचित्र में चीन का हिस्सा बताने पर बुधवार को ट्विटर के चार प्रतिनिधियों को...

दिल्ली विश्वविद्यालय के वीसी निलंबित

नई दिल्ली, 28 अक्टूबर (आईएएनएस)। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के आदेश पर दिल्ली विश्वविद्यालय के कुलपति को निलंबित कर दिया गया है। केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय...

आरोग्य सेतु ऐप किसने बनाया-इस पर कोई भ्रम की स्थिति नहीं : माइगोव के सीईओ

नई दिल्ली, 28 अक्टूबर (आईएएनएस)। केंद्रीय सूचना आयोग को नहीं पता कि आरोग्य सेतु ऐप किसने बनाया। इसको लेकर आयोग ने सरकार को नोटिस...

Related news

समदड़ी प्रधान पिंकी चौधरी को प्रेमी ने बनाया बंधक, फ़ोटो, वीडियो किये वायरल

बाड़मेर। जिले के समदड़ी पंचायत समिति से निवर्तमान प्रधान पिंकी चौधरी ने अशोक चौधरी नामक एक व्यक्ति, जिसको कथित तौर पर पिंकी...

खेत पर छोड़ने के बहाने बंधक बनाया था, प्रधान पिंकी चौधरी लौटना चाहती हैं अपने पुराने पति के पास, अशोक चौधरी से नहीं की...

बाड़मेर। जिले के समदड़ी पंचायत समिति से निवर्तमान प्रधान पिंकी चौधरी (Pinky choudhary) के द्वारा भागने और कथित तौर पर अपने प्रेमी...

समदड़ी प्रधान Pinky choudhary रहना चाहती हैं अपने पुराने पति के साथ, पर यह है बड़ा संकट

बाड़मेर। जिले के समदड़ी पंचायत समिति के निवर्तमान प्रधान पिंकी चौधरी अपने कथित प्रेमी और वर्तमान पति अशोक चौधरी से 2 महीने...

Pinky Choudhary पहले प्रेमी के साथ भागी, अब अपने पति के साथ जाना चाहती है

बाड़मेर। जिले की समदड़ी पंचायत समिति (Samdadi) प्रधान पिंकी चौधरी (Pinky Choudhary) अपने प्रेमी के साथ भाग गई। उसके साथ शादी कर...
- Advertisement -