हर शहीद जवान पर भारतीयों के बैंक खाते से कटेंगे 1.25 रुपये!

नई दिल्ली

भारत और चीन की सीमा पर जारी तनाव के बीच भारत सरकार को प्रत्येक जवान के शहीद होने पर हर भारतीय के बैंक खाते से सवा रुपया काटने का सुझाव दिया गया है।

विश्व हिंदू परिषद को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखे गए पत्र में कहा गया है कि भारत में सीमा पर या देश के भीतर सैनिक, अर्धसैनिक बल, बीएसएफ, सीआरपीएफ के जवानों में से हर एक जवान के शहीद होने पर हर भारतीय के खाते से सवा रुपया काटा जाना चाहिए।

विश्व हिंदू परिषद के महासचिव की तरफ से लिखे गए पत्र में प्रधानमंत्री से कहा गया है कि भारतीयों में राष्ट्रवाद और देश के प्रति भक्ति की भावना को देखते हुए यह तय होना चाहिए कि जवानों के शहीद होने पर हर भारतीय का कंट्रीब्यूशन हो।

हालांकि अभी तक इस मामले को लेकर भारत सरकार, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी या फिर राष्ट्र अध्यक्ष के रूप में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की तरफ से किसी भी तरह की कवायद किए जाने की सूचना नहीं मिली है।

विश्व हिंदू परिषद के पत्र में यह भी कहा गया है कि भारत में करीब 80 करोड़ बैंक खाते हैं। प्रत्येक भारतीय के बैंक खाते से सवा रुपया काटने पर न तो भारतीयों पर आर्थिक बोझ पड़ेगा और ना ही शहीद को आर्थिक संबल दिए जाने के लिए सरकार को बार-बार झुकना पड़ेगा।

विश्व हिंदू परिषद के इस सुझाव को भारत में लोगों ने स्वीकार करने की बात कहते हुए प्रशंसा की है। सोशल मीडिया पर और मीडिया के माध्यम से लोग सुझाव की प्रशंसा कर रहे हैं और केंद्र सरकार से इस को लागू करने के लिए मांग भी कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें :  केवल 2 सीट: क्या सचमुच कांग्रेस मुक्त भारत हो रहा है देश?

इसके साथ ही कई लोगों का मानना है कि जिन 80 करोड़ लोगों के बैंक खाते हैं, उनमें से प्रत्येक की हालत ऐसी नहीं है कि आए दिन भारत में शहीद होने वाले सैनिकों के लिए प्रति सैनिक सवा रुपया दान दे सके।