Video: exit poll यह केवल TV Channel के विज्ञापन का जुगाड़ है

exit poll 2019
exit poll 2019

जयपुर।
लोकसभा चुनाव 2019 के सातवें और आखिरी चरण के मतदान के साथ ही देश में कयासों का दौर शुरू हो गया है।

टीवी चैनल, जो रिजल्ट से पहले एग्जिट पोल के जरिए सरकार बनने और पार्टियों को बहुमत मिलने की संभावना का अनुमान जाहिर करते हैं, उन्होंने एक बार फिर प्रचंड़ बहुमत से मोदी सरकार बनने की उम्मीद जताई है।

रविवार शाम साढ़े 6 बजे जैसे ही चुनाव आयोग की अनुमति मिली, वैसे ही सभी छोटे—बड़े टीवी चैनल ने अपने अनुमान जाहिर कर दिए।

भाजपा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मुख विरोधी चैनल एनडीटीवी भी बहुमत से मोदी सरकार बनने का दावा करता हुआ नजर आया। हालांकि विपक्ष ने इस ओपिनियन पोल को सिरे से खारिज कर दिया है।

टीवी चैनल में एनडीटीवी ने एनडीए को 350, भाजपा को 300 सीट जीतने का दावा है। इसी तरह से यूपीए को 95 और कांग्रेस को केवल 55 सीट पर जीत दिखाई है। अन्य को एनडीटीवी ने कुल ही 97 सीट पर जीत का अनुमान लगाया है।

इसी तरह से टाइम्स नाउ ने एनडीए को बहुमत से कुछ ज्यादा 287 सीट दी है, तो भाजपा को 262 सीटों पर जीतता हुआ अनुमान लगाया है।

इसी तरह से यूपीए को 128 और कांग्रेस को केवल 78 सीट दी है। लेकिन सपा, बसपा समेत अन्य को 127 सीटों पर जीत हासिल होने का दावा किया है।

पोलस्टार्ट ने एनडीए को बहुमत से काफी पीछे 242 सीट दी है तो भाजपा को केवल 201 सीट पर जीत दिखाई है। यूपीए को 165 और कांग्रेस को 106 सीट दी है। अन्य को 135 सीटों पर जीत का अनुमान लगाया है।

यह भी पढ़ें :  भारतीय कृषि में प्रौद्योगिकी का महत्व

इसी तरह से इंडिया टीवी ने एनडीए को 285, भाजपा को 238 और यूपीए को 126 सीट पर जीत दिखाई है। साथ ही कांग्रेस को 82 सीट पर जीत का अनुमान लगाया है। इंडिया टीवी ने अन्य को 131 सीट दी हैं।

इंडिया टुडे, आजतक ने एनडीए को 339 से 365 सीट पर जीत दिखाई है, जबकि अकेली भाजपा को 293 से 316 सीट पर जीत हासिल होती बताई है।

इधर, यूपीए को 77 से 108 सीट और अन्य को केवल 69 से 95 सीटों पर जीत का अनुमान लगाया है।

एबीपी, नील्सन ने एनडीए को 3277 और भाजपा को 227 सीट पर जीत दिखाई है, जो 2014 के करीब ही है।

एबीपी ने यूपीए को 130 और कांग्रेस को 87 सीटों पर जीत बताई है। अन्य को 135 सीट पर जीत का दावा किया गया है।

न्यूज18 ने भाजपा को 276 और एनडीए गठबंधन को 336 सीट पर जीत का अनुमान लगाया है। इसी तरह से यूपीए को 82 और कांग्रेस को केवल 46 सीट पर जीत दिखाई है। साथ ही अन्य पार्टियों को 124 सीटें हासिल होती दिखाई है।

जन की बात ने एनडीए को 295 से 315 सीट दी है। और भाजपा को 254 से 274 सीट पर जीत दिखाई है। इसी तरह से यूपीए को 122 से 125 और कांग्रेस को 71 से 74 सीट पर जीत दिखाई है। अन्य को 102 से 125 सीट मिलती दिखाई है।

औसत की बात करें तो एनडीए को 304, भाजपा को 259, यूपीए को 117, कांग्रेस को 73 और अन्य को 121 सीट पर जीत का दावा किया है। 2014 के मुकाबले भाजपा को 13 सीटों का नुकसान, एनडीए को 32 और अन्य को 27 सीटों पर नुकसान होते दिखाया है। इसमें कांग्रेस को 29 और यूपीए को 58 सीटों का फायदा मिलता दिखाया गया है।

यह भी पढ़ें :  Face app user हो जाएं सावधान, आपकी जिंदगी को खतरा

मजेदार बात यह है कि एग्जिट पोल 2004, 2009 और 2014 में गलत साबित हो चुके हैं। 2004 में भाजपा को बहुमत की तरफ दिखाया था, लेकिन यूपीए को बहुमत मिला था।

इसी तरह से 2009 में सरकार भाजपा की बन रही थी और रिजल्ट में यूपीए की बनी। 2014 में भाजपा को सत्ता से दूर रखा था, केवल 190 सीट मिलती दिखाई थी, लेकिन मिली 283।

इसलिए इन पोल की हर बार पोल खुली है। लेकिन एक दो सर्वे सच साबित हुए हैं, जो भी एनडीए को ही जीत का दावा किया गया है।