30 C
Jaipur
रविवार, जुलाई 5, 2020

दिल्ली : अपराध का आंकड़ा बरकरार, बदमाशों को लॉकडाउन और कोरोना का डर नहीं

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली, 26 जून (आईएएनएस)। देश और दिल्ली में लगातार कोरोना वायरस का खतरा बढ़ता जा रहा है, लेकिन ऐसी महामारी में भी बदमाशों के हौसले बुलंद है। उम्मीद थी कि लॉकडाउन में अपराधों की संख्या में कमी आएगी, लेकिन आंकड़े साफ बताते हैं कि अपराध के मामलों में कमी नहीं आई है।
इसी क्रम में बुधवार/गुरुवार की आधी रात को प्रीत विहार इलाके में रोड रेज के चलते बाइक सवार बदमाशों ने आई-20 कार में जा रहे दो युवकों पर गोली चला दी, जिससे ड्राइवर की मौत हो गई। फिलहाल पुलिस इस मामले की जांच कर रही है। पहले के मुकाबले सड़कों पर अब लोग कम निकल रहें हैं, इसके बावजूद भी ऐसे मामले लगातार सामने आ रहे हैं। अब तो स्ट्रीट क्राइम के साथ-साथ राजधानी दिल्ली में ऑनलाइन क्राइम भी धड़ल्ले से हो रहे हैं।

दिल्ली में लगातार बढ़ते अपराध को देखते हुए उपराज्यपाल अनिल बैजल ने गुरुवार को विशेष पुलिस आयुक्त ( कानून और व्यवस्था) और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक भी की। उपराज्यपाल ने दिल्ली पुलिस को स्मार्ट पेट्रोलिंग द्वारा स्ट्रीट क्राइम और संवेदनशील वर्गों जैसे वरिष्ठ नागरिकों, अकेली महिलाओं की सुरक्षा पर कड़ी निगरानी रखने के निर्देश दिए। साथ ही सुरक्षा दिशा-निदेशरें का पालन करने की भी सलाह दी।

उन्होंने बैठक में पुलिस से कहा, अपने सभी मोबिलिटी साधनों से ज्यादा से ज्यादा गश्त करें और अधिक से अधिक क्षेत्रों की सुरक्षा करें। साथ ही स्ट्रीट क्राइम विशेषकर स्नैचिंग और लिफ्टिंग पर ध्यान केंद्रित कर पुलिस पिकेट को पुनर्व्यवस्थित करें।

पुलिस सूत्रों की माने तो कोरोना के चलते करीबन 2500 से ज्यादा बदमाशों को जेल से रिहा किया गया था। आंकड़ों की बात करें तो दिल्ली में 31 मई 2020 तक स्नैचिंग के 2141 मामले, रॉबरी के 596 मामले और जघन्य अपराध के 2205 मामले सामने आ चुके है। पिछले साल के मुताबिक इन आंकड़ों में ज्यादा फर्क नहीं है।

दिल्ली में साइबर क्राइम का ग्राफ भी तेजी से बढ़ा है। एक ओर जहां लॉकडाउन में लोगों ने ज्यादा से ज्यादा ऑनलाइन लेनदेन की, तो वहीं साइबर अपराधियों ने इसे अपना हथियार बना डाला। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है, कि लॉकडाउन के दौरान साइबर अपराध को लेकर आने वाली शिकायतों में करीब 80 से 90 फीसदी का इजाफा हुआ है। पिछले साल की तुलना में इस साल ऑनलाइन अपराध की शिकायतों में 30 से 40 फीसदी का इजाफा हुआ है।

लॉकडाउन के चलते सड़कों पर भी गिने चुने लोग निकला करते थे। जिसका फायदा अपराधियों को भी मिला और अकेले व्यक्ति को देख उसके साथ लूटपाट जैसे घटना को अंजाम दिया गया। कोरोना संक्रमण की चपेट में पुलिस विभाग भी आया, जिसका फायदा अपराधियों को भी मिला है।

राजधानी दिल्ली में स्ट्रीट क्राइम को देखते हुए 19 जून को दिल्ली पुलिस कमिश्नर एसएन श्रीवास्तव ने आला अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठक भी की थी। दिल्ली की आठ डिस्ट्रिक्ट में रोको टोको अभियान भी शुरू किया गया। साथ ही उन्होंने कोरोना से अपना बचाव करते हुए स्ट्रीट क्राइम पर भी जल्द काबू पाने की हिदायत भी दी थी।

–आईएएनएस

National Dunia से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर लाइक और Twitter, YouTube पर फॉलो करें.

- Advertisement -
दिल्ली : अपराध का आंकड़ा बरकरार, बदमाशों को लॉकडाउन और कोरोना का डर नहीं 2
Ram Gopal Jathttps://nationaldunia.com
नेशनल दुनिआ संपादक .

Latest news

गोरखपुर में होगा कोरोना वैक्सीन का ट्रायल

गोरखपुर, 4 जुलाई (आईएएनएस)। आईसीएमआर (इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च) और भारत बायोटेक के सहयोग से विकसित कोरोना की वैक्सीन का ट्रायल उत्तर...
- Advertisement -

पीएम मोदी ने बीजेपी कार्यकतार्ओं को दिया सेवन एस मंत्र, बोले- हम चुनाव जीतने की मशीन नहीं

नई दिल्ली, 4 जुलाई (आईएएनएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना काल में संचालित हुए भाजपा के सेवा कार्यों की समीक्षा के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं...

बिहार विधान परिषद के सभापति कोरोना संक्रमित, सुमो का भी लिया गया नमूना

पटना, 4 जुलाई (आईएएनएस) बिहार विधान परिषद के सभापति अवधेश नारायाण सिंह भी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। उन्हें पटना एम्स में इलाज के...

प्रधानमंत्री राजधर्म का पालन करें, चीनी घुसपैठ के बारे में सच बताएं : कांग्रेस

नई दिल्ली, 4 जुलाई (आईएएनएस)। कांग्रेस ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को राजधर्म की याद दिलाते हुए कहा कि वह चीनी घुसपैठ के...

Related news

3 माह से वेतन नहीं, सैंकड़ों कर्मचारियों की कोरोनाकाल में भूखे मरने की नौबत आई

-वेतन नहीं मिला तो कर्मचारी पहुंचे न्यायालय की शरणजयपुर। कोरोना संक्रमण काल के दौरान भी काम कर रहे...

थानाधिकारी सुसाइड मामले में आरोपित की गईं राजस्थान के एक विधायक को मुख्यमंत्री से भी बड़ी सुरक्षा प्रदान की गई है

जयपुर पिछले दिनों चूरू में सादुलपुर थाना अधिकारी विष्णु दत्त विश्नोई के सुसाइड मामले में विपक्षियों द्वारा जिस विधायक...

वसुंधरा से दूरियां, डॉ. सतीश पूनियां से नजदीकियां, आखिर क्या मंत्र है राठौड़ का?

जयपुर।राजस्थान विधानसभा में उप नेता प्रतिपक्ष और पिछली वसुंधरा राजे सरकार में पंचायती राज मंत्री रहे चूरू के विधायक राजेंद्र सिंह राठौड़...

2 साल 2 माह के मुख्य सचिव डीबी गुप्ता को राजस्थान सरकार ने आधी रात क्यों हटाया?

जयपुर राजस्थान सरकार ने गुरुवार आधी रात राज्य की ब्यूरोक्रेसी में बड़ा बदलाव करते हुए भारतीय प्रशासनिक सेवा के...
- Advertisement -