कांग्रेस प्रवक्ता ने चीन के खिलाफ ट्वीट किया तो सोनिया गांधी ने उनको पद से हटा दिया

नई दिल्ली

दो रात पहले जब भारत और चीन की सेना आमने-सामने थी और उस समय में भारत के 20 सैनिक और चीन के कथित तौर पर 43 सैनिक मारे गए तो ऐसे समय में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी समेत महासचिव प्रियंका वाड्रा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके सरकार को घेरने का प्रयास किया।

इस सिलसिले में कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता संजय झा के द्वारा एक ट्वीट करें चीन को लताड़ ने और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार की प्रशंसा करना भारी पड़ गया।

FB IMG 1592454167831

संजय झा ने 16 जून को ट्वीट किया और 17 जून को सुबह ही कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने एक पत्र जारी करते हुए संजय झा को राष्ट्रीय प्रवक्ता के पद से हटाते हुए दंडित भी कर दिया।

एक तरफ कांग्रेस पार्टी राष्ट्र की बात करती है, देश की सरकार के साथ खड़े रहने की बात करती है, तो दूसरी तरफ चीन के खिलाफ केवल एक ट्वीट करने पर अपने राष्ट्रीय प्रवक्ता को पद से हटाकर दंडित कर देती है।

FB IMG 1592454170463

मजेदार बात यह है कि यह वही कांग्रेस और कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी है जो प्रधानमंत्री और देश की सरकार से लगातार बयान देने और वास्तविकता सार्वजनिक करने के लिए दबाव बना रही थी।

ऐसे में सवाल यह उठता है कि क्या सोनिया गांधी और राहुल गांधी के साथ प्रियंका वाड्रा चीन के लिए काम कर रहे हैं। जिस तरह से उन्होंने सभी राष्ट्रीय सूचनाएं सार्वजनिक करने के लिए कहा और संजय झा के द्वारा एक ट्वीट करने पर उनको हटाया गया, उससे जनता के मन में शंका है कि कहीं सूचनाएं कांग्रेस अध्यक्ष की तरफ से चीन की तरफ भेजी तो नहीं जा रही है।

यह भी पढ़ें :  एनएफएसए के तहत आप 5 जून तक कर सकते हैं रजिस्ट्रेशन, फ्री मिलेगा 2 महीने तक अनाज, ऐसे अपनाएं प्रक्रिया

अपुष्ट खबरों के मुताबिक झड़प के दौरान चीन के 101 सैनिक मारे गए थे, जिनको ले जाने के लिए चीन ने 47 हेलीकॉप्टर भेजे थे। हालांकि चीन के राष्ट्रीय अखबार ग्लोबल टाइम्स के संपादक ने स्वीकार किया था कि उनके 43 सैनिक मारे गए हैं।