मोदी सरकार ने चीन को दिया अबतक का सबसे बड़ा झटका, सभी टेंडर से किया बाहर, 4G उपकरणों पर भी प्रतिबंध लगाया

नई दिल्ली

चीन के द्वारा लद्दाख में भारतीय सैनिकों पर कायराना हमला करते हुए की गई पड़ोसी देश की कार्रवाई के प्रतिकार के रूप में नरेंद्र मोदी सरकार ने अब तक का सबसे बड़ा फैसला लेते हुए चीन को जबरदस्त झटका दिया है।

भारत सरकार ने अब से पहले किए गए तमाम टेंडर में से चीन की सभी कंपनियों को बाहर का रास्ता दिखाते हुए 4जी उपकरण आयात में भी चीन के लिए द्वार बंद कर दिए हैं।

इससे पहले भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शाम को 4:00 बजे मुख्यमंत्रियों के साथ वर्चुअल मीटिंग में चीन की कायराना हरकत पर भारत के द्वारा समुचित जवाब दिए जाने का वादा किया गया था, जिस पर अमल करते हुए भारत सरकार ने देर रात ये फैसले लिए हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा था कि भारत अपनी संपूर्णता की रक्षा करने के लिए सभी तरह के कड़े से कड़े कदम उठाने के लिए स्वतंत्र है और सक्षम है। उन्होंने कहा था कि किसी भी देश को गलतफहमी में नहीं रहना चाहिए कि भारत के द्वारा रीटेलिएट नहीं किया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि दो रात पहले चीन की सेना के द्वारा गलवान घाटी में घात लगाकर भारत के 20 सैनिकों को शहीद करने का कायराना कार्य किया गया था, जिसके बाद भारत की जनता में चीन के प्रति कड़ा रोष है।

सोशल मीडिया पर चीन के सामान का बहिष्कार करने और भारत सरकार से चीन के साथ सभी कारोबारी रिश्ते खत्म करने की मांग की जा रही है। आत्मनिर्भर भारत के तहत चीन के तमाम सामानों का खुलकर बहिष्कार किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें :  ट्रंप के बाद ऐसा जादूई विमान मोदी को, दुनिया के सबसे सुरक्षित विमान में सवार होंगे प्रधानमंत्री

जिस तरह से चीन के द्वारा पिछले 42 साल में पहली बार इस तरह की बड़ी कार्रवाई करते हुए भारतीय सेना को मारने का कार्य किया है, उसके बाद पूरा देश उद्वेलित है और जिस तरह से पाकिस्तान को सजा दी थी, ठीक उसी तरह से मोदी सरकार से चीन को भी सजा दिए जाने की मांग उठ रही है।