छत्तीसगढ़ के सपनों के सौदागर मास्टर, आईपीएस, आईएएस और पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की मौत

नेशनल दुनिया, नई दिल्ली।

छत्तीसगढ़ राज्य का गठन होने के बाद मात्र से आईपीएस और आईपीएस आईएएस बने पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी का आज 3:20 पर निधन हो गया।

छत्तीसगढ़ जैसे आदिवासी राज्य को सपनों का सौदागर नाम से पहचान रखने वाले अजीत जोगी ने आज तीसरी बार हार्ट अटैक होने की वजह से अंतिम सांस ली।

भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के साथ समान दूरी और समान दोस्ती के चलते हमेशा चर्चा में रहे अजीत जोगी तब मुख्यधारा में लौटे जब 1996 में पहली बार अटल बिहारी वाजपेई प्रधानमंत्री बने।

राष्ट्रीय लोकतांत्रिक गठबंधन से लेकर यूपीए तक में मंत्री पद ग्रहण करने वाले अजीत जोगी छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री थे जिन्होंने छत्तीसगढ़ की जनता को, समान रूप से हिंदू, मुस्लिम और ईसाई को सपने दिखाए।

पिछले 20 दिन से लगातार अजीत जोगी हॉस्पिटल में भर्ती थे उनको पहली बार 20 दिन पहले हार्ट अटैक आया था।। उसके बाद दूसरी बार 15 मई को हार्ट अटैक आया और आज तीसरी बार हृदय गति रुकने के कारण उनका निधन हो गया।

यह भी पढ़ें :  BJP के नेता ने कहा पाकिस्तान से कोई भी आया तो वापस नहीं जा पाऐगा