अम्फान का राजस्थान, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, हरियाणा में क्या होगा असर?

अम्फान का राजस्थान, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, हरियाणा में क्या होगा असर?

नेशनल दुनिया, नई दिल्ली।

भयंकर तूफान अम्फान को लेकर राजस्थान, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश और हरियाणा में भी चिंता बढ़ रही है। इसके लेकर मौसम विभाग ने चेतावनी दी है।

पश्चिम बंगाल और उडिसा के तटिये क्षेत्रों से टकराने वाले भयंकर तूफान अम्फान को लेकर अब तक 12 लोगों के मरने की पुष्टि हुई है। इन प्रदेशों में बुधवार को तूफान के टकराने के बाद तबाही का आलम भयानक है।

सरकारों ने चिंता करनी छोड़ दी है। राजस्थान में टिड्डी दल का खतरा इतना अधिक है कि उसको दरकिनार नहीं किया जा सकता, लेकिन राज्य सरकार ने अबतक इस आपदा से निपटने के लिए न तो कोई बैठक की है और न ही राहत की बात कही है।

इतना जरुर है कि हमेशा की तरह मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर संसाधन मांग लिए हैं। इस दौरान यह नहीं कहा है कि राज्य सरकार क्या करने जा रही है?

बात अम्फान की की जाए तो यह तूफान 155 से 185 किलोमीटर की गति से आगे बढ़ रहा है। अभी तक तो वीडियो और फोटो सामने आए हैं, वो बताते हैं कि तबाही का मंजर बहुत खतरनाक है।

सड़क किनारे खड़े बड़े बड़े ट्रक पलट गए हैं, टीनशेड और छोटे मोटे घरों की तो बात ही क्या करें, बड़े बड़े ईंटों से निर्मित घर भी धराशाही हो गए हैं। चोपहिया वाहनों में कारें तो बहुत दूर तक चली गई है।

मौसम विभाग ने राहतभरी खबर मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, हरियाणा और राजस्थान जैसे हिंदीभाषी राज्यों के लिए दी है। विभाग का कहना है कि इस तूफान का असर इन राज्यों में केवल बरसात के रुप में हो सकता है, बाकि तूफान का कोई असर होने की संभावना नहीं है।

यह भी पढ़ें :  सच जानिए: राजीव गांधी और सोनिया गांधी ने आईएनएस विराट को प्राइवेट टैक्सी बना लिया था

हालांकि, तटीय राज्यों के अलावा झाडखंड़, बिहार, आंद्र प्रदेश समेत दूसरे कई राज्यों में इसके प्रवेश करने की संभावना है। जिसके बाद वहां पर भी नुकसान हो सकता है।