वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने दिया किसानों को 4.22 लाख करोड़ से 25 लाख केसीसी, 50 लाख मजदूरों के लिए लोन

नेशनल दुनिया, नई दिल्ली।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत मिशन के अभियान में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने किसानों को 4.22 लाख करोड़ से 25 लाख किसानों को केसीसी देगी।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने, जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा देश को संबोधित कर 20 लाख करोड के राहत पैकेज का ऐलान किया गया था।

 

वित्त मंत्री ने किसानों को लोन के स्वरूप 4. 22 लाख करोड रुपए का ऐलान किया है। उन्होंने कहा है कि सभी किसानों को लोन की किस्त चुकाने के लिए 3 महीने की छूट दी जाएगी।

25 लाख केसीसी और

इंटरेस्ट सब्वेंशन स्कीम को बढ़ाकर 31 मई तक कर दिया गया है। इसके तहत 25 लाख में किसान क्रेडिट कार्ड भी जारी किए जाएंगे। नाबार्ड के माध्यम से ग्रामीण बैंकों को 29500 करोड रुपए की मदद दी जाएगी।

बिजली कंपनियों के लिए

बिजली कंपनियों के लिए ऐलान करते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा था कि 94000 करोड रुपए जो बकाया है, उसमें से 90000 करोड रुपए का बेलआउट पैकेज दिया गया है।

प्रवासी मजदूरों के 3500 करोड़ रुपये का एलान किया है। इसके तहत बिना कार्ड वाले मजदूरों को 8 करोड़ मजदूरों को फायदा होगा। यह 2 महीने 3500 करोड़ खर्च होगा।

एपीपी मोड़ पर घर बनेंगे

प्रवासियों के लिए 2.33 लाख करोड़ खर्च होंगे। वन नेशन, वन राशन कार्ड को अगस्त 2020 से ही लागू किया जाएगा। किसी भी राज्य का मजदूर किसी भी राज्य में राशन ले सकता है। किसी भी दुकान से राशन लिया जाएगा। इस योजना में 83% शामिल हैं।

यह भी पढ़ें :  विजय माल्या से 9000 करोड़ के बदले वसूले 14000 करोड़-मोदी

रहने के लिए उनको पीएम आवास योजना के अलावा रेंटल आवास योजना शुरू की जाएगी। सरकारी फंड से अफोर्डेबल हाउस बनाया जाएगा, इसको पीपीपी मोड़ पर बनाया जाएगा। जिसका रेंट काफी कम होगा। किफायती दरों पर शहरी गरीब योजना शुरू की जाएगी।

फेक्ट्री के पास मिलेगा घर

इसके तहत जिनके पास घर बने हुए हैं वह भी गरीबों के लिए रेंटल आवास में शामिल हो सकते हैं। इसके अलावा जो उद्योगपति हैं, वह अगर उद्योग के आसपास में ऐसे घर बनाते हैं तो वह भी इसमें शामिल हो सकते हैं।

शिशु लोन का 1500 करोड़ ब्याज वहन

1500 करोड़ की ब्याज मदद से 1.60 लाख करोड़ रुपया लोन दिया गया है। इसमें 3 करोड़ लोग शामिल हैं। मुद्रा शिशु लोन के लोन लेने वाले शामिल होंगे। इसका 2% ब्याज सरकार उठाएगी।

50 लाख मजदूरों को लोन मिलेगा

स्ट्रीट वेंडर्स के लिए 5000 करोड़ का फंड जारी किया गया है। इसमें 50 लाख स्ट्रीट वेंडर्स शामिल होंगे। रेहड़ी, पटरी में शामिल, घरों में काम करने वाले हैं, वो सब शामिल किए जाएंगे। इनको 10 हज़ार रुपये तक सहायता मिलेगी। मोबाइल से भुगतान करने पर इनाम मिलेगा और आगे उसको 10 हज़ार रुपये ज्यादा मिलेगा।