दुनिया में कोरोनावायरस: 213 देशों में कहर, 1.09 लाख की मौत, 17.80 लाख बीमार, अमेरिका में 20577 मौत

दुनिया में कोरोनावायरस: 213 देशों में कहर, 1.09 लाख की मौत, 17.80 लाख बीमार, अमेरिका में 20577 मौत
दुनिया में कोरोनावायरस: 213 देशों में कहर, 1.09 लाख की मौत, 17.80 लाख बीमार, अमेरिका में 20577 मौत

नई दिल्ली।
दुनियाभर में कहर ढाह रहा कोनोनावायरस अबतक 1.09 लाख लोगों की जान ले चुका है। दुनिया में अब तक 17.80 लाख लोग कोरोनावायरस पॉजिटिव पाए गए हैं। सबसे ज्यादा 20577 मौत अकेले अमेरिका में हुई हैं, जबकि यहां पर 5.32 लाख लोग पॉजिटिव हैं।

दुनिया के 213 देशों में कोरोनावायरस का खौफ़ लगातार बढ़ता जा रहा है। मौतों के मामले में अमेरिका के बाद क्रमश: इटली 19468 स्पेन 16606, फ्रांस 13832, ब्रिटेन 9875, इरान 4357, बुलगारिया 3346, चीन 3339, नीदरलेंड्स 2643 मौत सर्वाधिक हुई हैं। भारत में भी अबतक 8446 लोग बीमार हैं, जबकि यहां पर 288 लोगों की मौत हो चुकी है।

कोरोनावायरस की वैक्सीन बनाने का दावा तो खूब किया जा रहा है, लेकिन अभी तक भी वैक्सीन का परिक्षण मानव शरीर पर नहीं किया गया है। अभी तक इसका परिक्षण केवल जानवरों पर ही किया जा रहा है। दावा किया गया है कि सितंबर तक वैक्सीन मानव को लगाने योग्य हो जाएगी।

वैक्सीन बनाने में भारत, अमेरिका, चीन, ब्रिटेन, जापान, इटली, स्पेन समेत दुनिया के कई देशों के हजारों डॉक्टर लगे हुए हैं। इस बीच सबसे बड़ा संकट लोगों की जान बचाने का है। इसके लिए सोशल डिस्टेंसिंग ही एकमात्र उपाय है।

हालांकि, मलेरिया और पेट के कीड़े मारने की दवा से भी मरीजों को ठीक किये जाने के दावे हो रहे हैं। दुनिया में मलेरिया की दवा का सप्लायर भारत सबसे बड़ा देश है। भारत हर माह 33 करोड़ टेबलैट मलेरिया की बना सकता है। भारत के पास अभी तक 3 करोड़ से अधिक टेबलैट हैं, जो कि भारत की जरुरत से तीन गुना अधिक है।

यह भी पढ़ें :  Bihar Election 2020: मतदान 28 अक्टूबर, 3 और 7 नवम्बर को, 10 को आएगा परिणाम

भारत ने अमेरिका, ब्राजील, ब्रिटेन, स्पेन, इटली समेत कई देशों को मलेरिया की सप्लाई की है। अभी भी सप्लाई जारी है। भारत हर देश की डिमांड के अनुसार दवा का निर्माण कर रहा है। जब तक वैक्सीन उपलब्ध नहीं होगी, तब तक मलेरिया की दवा ही एकमात्र उपाय है।