तबलीगी जमात के लोगों से आतंकियों की तरह पेश आएं : केंद्रीय मंत्री वीके सिंह

नई दिल्ली।

कोविड-19 की महामारी के बीच दिल्ली के तबलीगी जमात के लोगों के द्वारा देशभर में कोरोनावायरस फैलाने का कार्य किया गया है और ऐसे लोगों के खिलाफ आतंकवादियों की तरह पेश आना चाहिए। यह बात कही है केंद्रीय मंत्री ने।

केंद्रीय मंत्री और पूर्व सेनाध्यक्ष जनरल वीके सिंह का कहना है कि तबलीगी जमात के लोग जाहिल मानसिक करते हैं और इन लोगों ने सरकारों को सपोर्ट नहीं किया है। इस महामारी के बीच बेहूदा हरकतें कर रहे हैं। इसलिए ऐसे लोगों के साथ आतंकवादी कितने पैसा ना चाहिए।


तबलीगी जमात के लोगों की जाहिल मानसिकता है, जिससे निकलने की जरूरत है। हम इन्हें बचाकर संक्रमण फैलाने की कोशिश कर रहे हैं। यह आतंकवाद की घटना है और इनसे आतंकवादियों की तरह ही निपटना चाहिए।

गौरतलब है कि तबलीगी जमात के लोगों को दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित मरकज की भवन से 30 मार्च को निकाला गया था। उससे पहले 28 और 29 मार्च की रात को राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल उनको समझाने के लिए पहुंचे थे।

पिछले 30 मार्च से अन्य लोगों को वहां से निकाला जा चुका है, जबकि उससे पहले भी मरकज के कार्यक्रम में शामिल होकर देश के 22 राज्यों में पहुंचे तबलीगी जमात यों के संपर्क में आए हुए कई लोग कोरोनावायरस की चपेट में आ चुके हैं। इस दौरान तबलीगी जमात के लोगों में से कईयों की मौत भी हो चुकी है।

दरअसल जिस दिन तबलीगी जमात के लोगों का खुलासा नहीं हुआ था। उससे पहले भारत में कोरोनावायरस के पॉजिटिव मरीजों की संख्या 1500 से भी कम थी, लेकिन आज की तारीख में करीब 6000 लोग कोरोना वायरस की पोजिटिव मिल चुके हैं।

यह भी पढ़ें :  जांबाज दीपक दहिया बोले: "जान पर खेलकर जनता की जान बचाना ही मेरी ड्यूटी है"

वैश्विक महामारी कोविड-19 के चलते भारत में लोगों में तबलीगी जमात के खिलाफ काफी गुस्सा है। क्योंकि तबलीगी जमात के लोग डॉक्टरों पर थूक रहे हैं, पुलिसकर्मियों के साथ मारपीट कर रही हैं और जो संदिग्ध है, जो मरीज है वह खुद निकल कर बाहर नहीं आ रहे हैं।