29 C
Jaipur
बुधवार, जून 3, 2020

उत्तर प्रदेश की अंतरराष्ट्रीय शूटर ने तबलीगी प्रमुख मौलाना साद की गिरफ्तारी के लिए घोषित किया 51000 का इनाम

- Advertisement -
- Advertisement -

लखनऊ, 7 अप्रैल (आईएएनएस)। शूटर वर्तिका सिंह ने तबलीगी जमात प्रमुख मौलाना मोहम्मद साद कांधलवी की गिरफ्तारी में मदद करने वाले को 51,000 रुपये का इनाम देने की घोषणा की है।

सोशल मीडिया पर पोस्ट किए गए एक वीडियो संदेश में वर्तिका ने सरकार से कहा है कि वह राजद्रोह के लिए मौलवी पर मामला दर्ज करें क्योंकि उसने कोरोना संकट के बीच तबलीगी जमात की बैठक की मेजबानी करके लाखों लोगों के जीवन को खतरे में डाल दिया है।

उन्होंने कहा, तबलीगी जमात प्रमुख ने देश को संकट में डाल दिया है। तबलीगी जमात बैठक के कारण देश में कोरोनोवायरस पॉजिटिव मामलों की संख्या बढ़ गई है। इस आदमी को बिना किसी देरी के गिरफ्तार किया जाना चाहिए। मैंने इनाम की घोषणा की है ताकि लोग उसके ठिकाने के बारे में जानकारी देने आगे आएं।

वर्तिका का पहले भी विवादों से नाता रहा है। पिछले साल दिसंबर में उन्होंने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को खून से पत्र लिखकर मांग की थी कि निर्भया सामूहिक बलात्कार मामले में दोषी ठहराए गए चारों लोगों को एक महिला द्वारा मारा जाए।

इससे पहले सितंबर 2019 में बाबरी मामले के वादी इकबाल अंसारी ने आरोप लगाया कि उनके घर पर वर्तिका सिंह ने हमला किया था।

अंसारी ने अयोध्या में संवाददाताओं से कहा था, वह मेरे घर आई और अपना परिचय देने के बाद कहा कि वह मुझसे बात करना चाहती है। उसके साथ एक पुरुष भी था। मैंने उन्हें अंदर आने दिया, फिर उन्होंने ट्रिपल तलाक और राम मंदिर जैसे मुद्दों पर चर्चा करना शुरू की।

अचानक उसने मुझ पर आरोप लगाने शुरू कर दिए और मंदिर निर्माण में देरी के लिए मुझे दोषी ठहराया। वह आक्रामक हो गई और मेरे साथ हाथापाई करने लगीं। मेरे सुरक्षाकर्मियों ने मुझे उससे दूर जाने में मदद की और फिर पुलिस को सूचित किया।

इसके बाद उन्होंने राम जन्मभूमि पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई और वर्तिका सिंह को फैजाबाद के महिला थाने में ले जाया गया जहां उनसे इस घटना के बारे में पूछताछ की गई।

–आईएएनएस

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर लाइक और Twitter, YouTubeपर फॉलो करें.

- Advertisement -
Ram Gopal Jathttps://nationaldunia.com
नेशनल दुनिया संपादक .

Latest news

महात्मा गांधी अस्पताल द्वारा कोरोनावायरस की टेस्टिंग के साथ इतना खिलवाड़ क्यों हो रहा है?

- टेस्ट ही मुख्य आधार है कोरोनावायरस के उपचार का और अगर टेस्टिंग का सैंपल कलेक्शन ही गलत है तो रिपोर्ट कैसे...
- Advertisement -

महात्मा गांधी अस्पताल द्वारा कोरोनावायरस की टेस्टिंग के साथ इतना खिलवाड़ क्यों हो रहा है?

- टेस्ट ही मुख्य आधार है कोरोनावायरस के उपचार का और अगर टेस्टिंग का सैंपल कलेक्शन ही गलत है तो रिपोर्ट कैसे...

महात्मा गांधी अस्पताल द्वारा कोरोनावायरस की टेस्टिंग के साथ इतना खिलवाड़ क्यों हो रहा है?

- टेस्ट ही मुख्य आधार है कोरोनावायरस के उपचार का और अगर टेस्टिंग का सैंपल कलेक्शन ही गलत है तो रिपोर्ट कैसे...

महात्मा गांधी अस्पताल द्वारा किया जा रहा है खेल: जिन डायग्नोस्टिक लैब्स को सैंपल कलेक्ट करने का अधिकार नहीं, वो कोरोनावायरस की टेस्टिंग कर...

- जिन लैब कर्मचारियों को टेस्टिंग का अनुभव नहीं, वह कोरोनावायरस की टेस्ट रिपोर्ट अपने हस्ताक्षर से जारी कर रहे हैं

Related news

महात्मा गांधी अस्पताल द्वारा कोरोनावायरस की टेस्टिंग के साथ इतना खिलवाड़ क्यों हो रहा है?

- टेस्ट ही मुख्य आधार है कोरोनावायरस के उपचार का और अगर टेस्टिंग का सैंपल कलेक्शन ही गलत है तो रिपोर्ट कैसे...

महात्मा गांधी अस्पताल द्वारा कोरोनावायरस की टेस्टिंग के साथ इतना खिलवाड़ क्यों हो रहा है?

- टेस्ट ही मुख्य आधार है कोरोनावायरस के उपचार का और अगर टेस्टिंग का सैंपल कलेक्शन ही गलत है तो रिपोर्ट कैसे...

महात्मा गांधी अस्पताल द्वारा कोरोनावायरस की टेस्टिंग के साथ इतना खिलवाड़ क्यों हो रहा है?

- टेस्ट ही मुख्य आधार है कोरोनावायरस के उपचार का और अगर टेस्टिंग का सैंपल कलेक्शन ही गलत है तो रिपोर्ट कैसे...

महात्मा गांधी अस्पताल द्वारा किया जा रहा है खेल: जिन डायग्नोस्टिक लैब्स को सैंपल कलेक्ट करने का अधिकार नहीं, वो कोरोनावायरस की टेस्टिंग कर...

- जिन लैब कर्मचारियों को टेस्टिंग का अनुभव नहीं, वह कोरोनावायरस की टेस्ट रिपोर्ट अपने हस्ताक्षर से जारी कर रहे हैं
- Advertisement -