क्या अमेरिका बचा पाएगा अपने लोगों की जान? 22 लाख लोगों के मरने की आशंका

नई दिल्ली

कोरोनावायरस को लेकर दुनिया भर में अब तक 12 लाख से अधिक लोग पॉजिटिव हो चुके हैं, जबकि 65000 लोगों की जान जा चुकी है।

इस वायरस के चलते सबसे ज्यादा प्रभावित है दुनिया की महाशक्ति अमेरिका। जहां पर अब तक 8500 से लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि यहां पर करीब साढे तीन लाख लोग बीमार हैं।

मरने वालों की संख्या के लिए आपसे बात की जाए तो इटली में अब तक 13000 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। इसके अलावा जर्मनी स्पेन ईरान फ्रांस में भी बड़े पैमाने पर लोग मर रहे हैं।

पिछले दिनों अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि अगर अमेरिका में ढाई लाख से कम मौतें हुई तो यह अमेरिका के लिए बड़ी कामयाबी होगी। इसके साथ ही यह भी बता दें कि ब्रिटेन की इंपीरियल कॉलेज की एक प्रोफेसर ने अपने अध्ययन में कहा था कि अमेरिका में कम से कम 2200000 लोगों की मौत होगी।

प्रोफेसर ने भी कहा था कि अमेरिका के अलावा ब्रिटेन में भी 500000 लोग इस महामारी के चलते अपनी जान गवा देंगे। दुनिया भर में जिस तेजी से यह वायरस अपने पांव पसार रहा है, उससे साफ हो रहा है कि कहीं न कहीं प्रोफेसर की बात सच साबित होती हुई दिख रही है।

कोरोनावायरस कैसे होते हैं भारत में अब तक 3100 से अधिक लोग बीमार हो चुके हैं जबकि 107 लोगों ने जान गवाई है। भारत में सर्वाधिक प्रभावित महाराष्ट्र और केरल है, जहां पर महाराष्ट्र में करीब 350 से अधिक लोग बीमार हो चुके हैं।

यह भी पढ़ें :  17 की उम्र में प्रेमी के साथ भागी, 19 में बच्चे के साथ वापस आई

दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित एक तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल होकर देश भर के 22 राज्य में गए करीब 9000 लोगों के द्वारा कोरोनावायरस फैलाया गया है।

दुनिया की महाशक्ति अमेरिका और ऐतिहासिक सांस्कृतिक सभ्यता वाले भारत मिलकर कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे हैं। कहा जा रहा है कि चीन के द्वारा यह जैविक हथियार बनाया गया था, जो अब दुनिया भर में अपना असर फैला रहा है।