29 C
Jaipur
बुधवार, जून 3, 2020

कोरोना को लेकर सोनिया गांधी ने किया बड़ा कार्य, देखिये पूर्ण खबर

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली, 30 मार्च (आईएएनएस)। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कोरोनावायरस को लेकर मानवीय मदद के लिए राज्य संगठनों के साथ समन्वय के लिए एक नियंत्रण कक्ष स्थापित किया है।
के.सी. वेणुगोपापल की ओर से जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया है, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कोविड-2019 से संबंधित सभी मामलों पर समन्वय के मकसद से एआईसीसी में केंद्रीय नियंत्रण कक्ष की स्थापना को मंजूरी दी है, जिसमें सांसद राजीव साटव, पूर्व विधायक देवेंद्र यादव और एआईसीसी के सचिव मनीष चतरथ शामिल हैं।

पार्टी ने कहा कि राज्य समितियां वायरस के प्रसार पर जमीनी स्थिति के आधार पर केंद्रीय नियंत्रण कक्ष को दैनिक रूप से अपडेट करेंगी, साथ ही राज्य सरकारों की चिकित्सा तैयारियों के साथ-साथ पार्टी और राज्य एजेंसियों द्वारा राहत कार्य के बारे में भी अपडेट करेंगी।

विज्ञप्ति में कहा गया, नियंत्रण कक्ष, एआईसीसी के महासचिव (संगठन) के.सी. वेणुगोपाल के मार्गदर्शन और निगरानी के तहत कार्य करेगा।

एआईसीसी की ओर से जारी बयान में कहा गया कि नियंत्रण कक्ष की स्थापना का सुझाव दिल्ली में राज्य के नेताओं ने राज्यों के साथ प्रयासों के समन्वय के लिए शनिवार को दिया था, और इस बात पर भी जोर दिया और सुझाव दिया कि कांग्रेस अध्यक्ष और पूर्व अध्यक्ष को पार्टी कार्यकर्ताओं और आम जनता के साथ नियमित आधार पर बातचीत करने की आवश्यकता है।

–आईएएनएस

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर लाइक और Twitter, YouTubeपर फॉलो करें.

- Advertisement -
Ram Gopal Jathttps://nationaldunia.com
नेशनल दुनिया संपादक .

Latest news

जिन डायग्नोस्टिक लैब्स को सैंपल कलेक्ट करने का अधिकार नहीं, वो कोरोनावायरस की टेस्टिंग कर रहे हैं

- जिन लैब कर्मचारियों को टेस्टिंग का अनुभव नहीं, वह कोरोनावायरस की टेस्ट रिपोर्ट अपने हस्ताक्षर से जारी कर रहे हैं
- Advertisement -

जिन डायग्नोस्टिक लैब्स को सैंपल कलेक्ट करने का अधिकार नहीं, वो कोरोनावायरस की टेस्टिंग कर रहे हैं

- जिन लैब कर्मचारियों को टेस्टिंग का अनुभव नहीं, वह कोरोनावायरस की टेस्ट रिपोर्ट अपने हस्ताक्षर से जारी कर रहे हैं

जिन डायग्नोस्टिक लैब्स को सैंपल कलेक्ट करने का अधिकार नहीं, वो कोरोनावायरस की टेस्टिंग कर रहे हैं

- जिन लैब कर्मचारियों को टेस्टिंग का अनुभव नहीं, वह कोरोनावायरस की टेस्ट रिपोर्ट अपने हस्ताक्षर से जारी कर रहे हैं

महाराष्ट्र : पिता की मौत बाद खुशी और दुख के बीच आदिवासी लड़की ने रचाई शादी

यवतमाल, 3 जून (आईएएनएस)। दो छोटे गांवों के सैकड़ों निवासियों ने एक जनजातीय दंपति की शादी के समारोह में हिस्सा लिया, लेकिन खुशी के...

Related news

जिन डायग्नोस्टिक लैब्स को सैंपल कलेक्ट करने का अधिकार नहीं, वो कोरोनावायरस की टेस्टिंग कर रहे हैं

- जिन लैब कर्मचारियों को टेस्टिंग का अनुभव नहीं, वह कोरोनावायरस की टेस्ट रिपोर्ट अपने हस्ताक्षर से जारी कर रहे हैं

जिन डायग्नोस्टिक लैब्स को सैंपल कलेक्ट करने का अधिकार नहीं, वो कोरोनावायरस की टेस्टिंग कर रहे हैं

- जिन लैब कर्मचारियों को टेस्टिंग का अनुभव नहीं, वह कोरोनावायरस की टेस्ट रिपोर्ट अपने हस्ताक्षर से जारी कर रहे हैं

जिन डायग्नोस्टिक लैब्स को सैंपल कलेक्ट करने का अधिकार नहीं, वो कोरोनावायरस की टेस्टिंग कर रहे हैं

- जिन लैब कर्मचारियों को टेस्टिंग का अनुभव नहीं, वह कोरोनावायरस की टेस्ट रिपोर्ट अपने हस्ताक्षर से जारी कर रहे हैं

महाराष्ट्र : पिता की मौत बाद खुशी और दुख के बीच आदिवासी लड़की ने रचाई शादी

यवतमाल, 3 जून (आईएएनएस)। दो छोटे गांवों के सैकड़ों निवासियों ने एक जनजातीय दंपति की शादी के समारोह में हिस्सा लिया, लेकिन खुशी के...
- Advertisement -