रामनवमी को राम मंदिर का भूमि पूजन करेंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी!

– राम मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष नृत्य गोपाल दास ने प्रधानमंत्री मोदी को इस अवसर पर अयोध्या कर भूमि पूजन करवाने का निमंत्रण दिया है।

राम मंदिर न्यास के अध्यक्ष अयोध्या के संत नृत्य गोपाल दास ने गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उनके आवास पर मिलने जा रहे न्यासियों का नेतृत्व किया। उन्होंने प्रधानमंत्री से कहा कि वह 2 अप्रैल, जिस दिन रामनवमी है, पर भूमि पूजन आयोजित करवाना चाहते हैं।

उन्होंने प्रधानमंत्री से कहा कि अंतिम निर्णय 3 और 4 मार्च को अयोध्या में होने वाले न्यासियों की दूसरी बैठक में लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि भूमि पूजन करने तथा आधारशिला रखने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आमंत्रित किया है।

दास ने कहा कि प्रधानमंत्री को यहां बुधवार को न्यासियों की पहली बैठक के लिए दिए गए निर्णय की जानकारी दी। जिसमें उन्हें एवं वीएचपी अध्यक्ष संपतराय को शामिल किया गया है और बाद में उन्होंने राय को न्यास के महासचिव के रूप में नियुक्त किया गया।

उन्होंने आवागमन की समस्या को देखते हुए न्यास का मुख्यालय सरल दिल्ली से अयोध्या स्थानांतरित करने का अनुरोध किया है। अयोध्या में राम भव्य राम मंदिर के निर्माण की रूपरेखा के लिए स्थापित करते समय प्रधानमंत्री ने नृत्य गोपाल तथा चंपत राय को जानबूझ कर रखा था, क्योंकि वह लखनऊ की एक अदालत में लंबित बाबरी मस्जिद विध्वंस के 1 आपराधिक मामले में आरोपी हैं।

लेकिन न्यास के सभी सदस्यों ने ट्रस्ट का हिस्सा बनाने का सहमत हो गए, क्योंकि उनके संगठनों को इस आंदोलन के लिए श्रेय दिया जाना चाहिए जो राम मंदिर के निर्माण में सफल रहा।

यह भी पढ़ें :  Delhi election : सरकारी कालोनियों में लगाए गए विशेष मतदाता शिविर

मोदी अपने ट्विटर हैंडल पर अपनी महत्वपूर्ण बैठकों का विवरण अपलोड करने के लिए जाने जाते हैं, किंतु उन्होंने इस न्यास के साथ हुई मुलाकात के बारे में कुछ भी नहीं किया इसके अधिकांश सदस्य हिंदू सन्त है।