प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हुंकार, कहा: जिसको जो करना है करे, हम नागरिकता संशोधन कानून से एक कदम पीछे नहीं हटेंगे

नई दिल्ली।

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर देशभर में जगह-जगह पर विरोध हो रहे हैं। मुसलिम समुदाय के द्वारा इस कानून को वापस लिए जाने की मांग की जा रही है और उनका साथ दे रहे हैं, राजस्थान, पश्चिम बंगाल, मध्य प्रदेश और पंजाब जैसे राज्यों के मुख्यमंत्री।

तमाम तरह के विरोध के बावजूद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर से स्पष्ट किया है कि नागरिकता संशोधन कानून के मामले में सरकार एक कदम भी पीछे नहीं हटेगी, चाहे कोई भी कितना भी दबाव बनाने का प्रयास करें। उन्होंने कहा कि हम नागरिकता संशोधन कानून के फैसले पर कायम हैं और कायम रहेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वाराणसी में पंडित दीनदयाल उपाध्याय की 63 फीट ऊंची प्रतिमा का अनावरण करने के साथ ही काशी में 1200 करोड़ की परियोजनाओं का लोकार्पण करने के दौरान जनसभा को संबोधित करते हुए यह बात कही।

प्रधानमंत्री ने एक बार फिर से दृढ़ता दिखाते हुए कहा कि अनुच्छेद 370 को देश हित में हटाए जाने का फैसला किया गया है। उन्होंने साफ किया कि अयोध्या में राम जन्मभूमि पर भव्य मंदिर के निर्माण के लिए ट्रस्ट का गठन हो चुका है, और यहां पर राम मंदिर की बहुत जल्द भव्यता दिखने लगेगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्पष्ट किया कि केंद्र की हमारी सरकार ने कई साहसिक फैसले किए हैं, जिनमें धारा 370 हटाने, नागरिकता संशोधन कानून पास करने जैसे देशहित के जरूरी फैसले लिए गए हैं, और दुनियाभर के सारे दबाव दरकिनार करते हुए हम इन पर कायम रहेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर से देश की अर्थव्यवस्था 5 ट्रिलियन डॉलर करने की हुंकार भरने के साथ ही कहा कि अगले 4 साल के दौरान देश के छोटे शहरों में निर्माण पर 100 लाख करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे।

यह भी पढ़ें :  होली की छुट्टियां खत्म होते ही 11.74 करोड़ लोगों के खातों में आएगा 2280 करोड़ रुपये

दूसरी तरफ गृहमंत्री अमित शाह ने एक बार फिर से अपने इरादे स्पष्ट कर दिए हैं। उन्होंने देश और दिल्ली में उपद्रव करने वाले लोगों के साथ सख्ती से निपटने के लिए दिल्ली पुलिस की सराहना करते हुए कहा है कि आम जनता को कोई तकलीफ नहीं होनी चाहिए, लेकिन उपद्रव करने वाले लोगों के साथ किसी भी तरह की नरमी बरतने की जरूरत नहीं है।