JNU हिंसा में पुलिस कमिश्नर ने दिए जांच के आदेश, जॉइंट कमिश्नर करेंगे जांच

जेएनयू हिंसा में पुलिस कमिश्नर ने दिए जांच के आदेश

[ad_1]

नई दिल्ली , 5 जनवरी (आईएएनएस)। जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) में छात्रों पर हुए हमले की जांच के लिए दिल्ली पुलिस ने एक स्पेशल टीम गठित की है। दिल्ली पुलिस कमिश्नर (DELHI POLICE COMISSIONER) ने इस जांच के आदेश दिए हैं। दिल्ली पुलिस की ज्वाइंट कमिश्नर शालिनी सिंह यह जांच करेंगी। जेएनयू में हुई हिंसा पर गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर से पूरी जानकारी मांगी है।
रविवार शाम जेएनयू में हुई हिंसा की जानकारी विश्वविद्यालय प्रशासन ने दिल्ली पुलिस को दी है। जानकारी के साथ ही हिंसा की वारदातों को रोकने के लिए पुलिस को भी यूनिवर्सिटी कैंपस में बुलाया गया है।

जेएनयू हिंसा पर डीसीपी साउथ वेस्ट देवेंद्र आर्या का कहना है कि विश्वविद्यालय प्रशासन ने पुलिस को जेएनयू परिसर में दाखिल होने की लिखित अनुमति दी। इसके बाद पुलिस ने यहां पहुंचकर स्थिति को अपने नियंत्रण में ले लिया। डीसीपी देवेंद्र आर्या के मुताबिक फिलहाल जेएनयू के अंदर स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है। पुलिस ने सभी आवश्यक प्वाइंट्स पर पुलिस बल तैनात कर दिए हैं।

उन्होंने बताया कि हिंसा में 21 छात्रों के घायल होने की सूचना है। घायलों को उपचार के लिए एम्स ले जाया गया है। जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में हुई इस हिंसा के दौरान छात्र संघ की नेता आईशी घोष भी बुरी तरह जख्मी हो गई। आईसी को भी उपचार के लिए अस्पताल ले जाया गया है। फिलहाल इन सभी का उपचार चल रहा है। पुलिस का कहना है कि जख्मी छात्रों द्वारा दिए गए बयान के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें :  PM kisan yojana: आज से किसानों को मिलेंगे 2-2 हज़ार रुपए

विश्वविद्यालय में हुई इस हिंसा का विरोध कर रहे जेएनयू के कुछ छात्रों ने विश्वविद्यालय में पहुंचे पुलिस अधिकारियों को बताया कि नकाबपोश हमलावर छात्रों को पीटने के लिए पेरियार, कावेरी, साबरमती व कोईना हॉस्टल तक पहुंच गए थे।

— आईएएनएस

[ad_2]