JNU बना पुलिस छावनी, सभी रास्ते बंद, ABVP के 10 छात्रों का पता नहीं, भारी तनाव

jnu violence
jnu violence

Delhi news/jnu news

जवाहर लाल नेहरू विवि में एक बार फिर बवाल शुरु हो गया है। यहां पर नकाबपोश बदमाशों के द्वारा छात्रों और टीचर्स पर हमला किया गया है। विवि की छात्रसंघ (JNUSU) अध्यक्ष आइशा घोष की एक फोटो जारी की गई है, जिसमें उनके सिर से खून निकल रहा है।

दूसरी ओर एबीवीपी (ABVP) ने एसएफआई (SFI), एआईएसए और बीएसएफ (BSF) पर आरोप लगाया है। एबीवीपी ने कहा है कि उनके 25 छात्रों को बुरी तरह से पीटा गया है और 10 छात्र अभी भी लापता हैं। दिल्ली से जेएनयू (JNU) जाने वाले सभी रास्ते बंद कर दिए गए हैं।

इधर, घटना के बाद विवि कैंपस पुलिस छावनी में तब्दील हो गया है। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली पुलिस को सख्त एक्शन लेने की मांग की है। दूसरी ओर पूर्व गृहमंत्री पी चितमबरम समेत कांग्रेसी नेताओं ने कहा है कि दिल्ली पुलिस पर सवाल खड़े किए हैं।

बताया जा रहा है कि सभी हॉस्टल्स पर वामपंथी संगठनों के छात्रों ने कब्जा कर लिया है। जबकि शुरुआत ताप्ती हॉस्टल से हुई थी, जहां पर छात्रों ने हमलावरों के हमले के बाद भागकर जान बचाई थी। दोनों छात्र संगठनों ने एक दूसरे पर गंभीर आरोप लगाए हैं।

जामिया मील्लिया के बाद अब लोगों का ध्यान जेएनयू पर चला गया है। दिल्ली की सर्दी के बीच सियासत ने तापमान को सातवें आसमान पर पहुंचा दिया है। दिल्ली में इसी साल की फरवरी में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं।

यह भी पढ़ें :  विभिन्न राज्यों के 1.72 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में चलाया गया टिड्डी नियंत्रण अभियान : केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी