Video: राजनीतिक घमासान के बीच उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ ही बने रहेंगे मुख्यमंत्री

उत्तर प्रदेश में अगले वर्ष के शुरुआत में विधानसभा के चुनाव होने हैं और उससे पहले भारतीय जनता पार्टी के द्वारा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मंत्रिमंडल में सर्जरी करने के लिए 1 दिन बाद दिल्ली में उच्च स्तरीय बैठक बुलाई गई है। इस वीडियो के माध्यम से समझ गए उत्तर प्रदेश में क्या कुछ चल रहा है

भाजपा सूत्रों का कहना है कि इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा गृह मंत्री अमित शाह के साथ ही राष्ट्रीय संगठन महामंत्री भी असंतोष और तमाम उच्च स्तरीय पदाधिकारी शामिल होंगे।

लेकिन इससे पहले भाजपा सूत्रों ने दावा किया है कि उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत के बीच किसी तरह की कोई शंका नहीं है। दोनों के द्वारा उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले चुनाव के लिए भी योगी आदित्यनाथ को ही मुख्यमंत्री का चेहरा बनाने का फैसला कर लिया गया है।

विधायक राजनीति के कुछ जानकारों द्वारा दावा किया जा रहा है कि उत्तर प्रदेश में अरविंद कुमार शर्मा को उप मुख्यमंत्री बनाया जा सकता है। इसके साथ ही केशव प्रसाद मौर्य को फिर से भाजपा का प्रदेश उपाध्यक्ष बनाने की संभावना पूरी है। योगी आदित्यनाथ के मंत्रिमंडल में भी करीब आधा दर्जन लोगों को शामिल किया जाएगा और कुछ मंत्रियों के मंत्रालय भी बदल जाएंगे।

आपको बता दें कि अरविंद कुमार शर्मा आईएएस अधिकारी रहे हैं और 2001 से लेकर जनवरी 2021 तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सबसे चहेते अफसर रहे हैं। वीआरएस लेने के बाद अरविंद कुमार शर्मा को उत्तर प्रदेश से विधान परिषद का सदस्य बनाया गया है, तभी से लेकर चर्चा शुरू हो गई थी, कि उनको यूपी का अगला मुख्यमंत्री बनाया जा सकता है कुछ लोगों का यह भी कहना है कि 2022 में उनको मुख्यमंत्री बना कर अनुग्रहित किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें :  पायलट खेमे से डूडी और गहलोत गुट से मीणा हो सकते हैं उम्मीदवार