नागरिकता संशोधन कानून (CAA) लागू, इन तीन देशों के नागरिक बन सकेंगे भारतीय

राम गोपाल जाट। आधार कार्ड नागरिकता संशोधन कानून (CAA) भारत सरकार के द्वारा दो दिन पहले ही पूरे देश भर में लागू कर दिया गया है। इस कानून को 12 फरवरी 2020 को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के द्वारा हस्ताक्षर गया था, जिसे 20 जनवरी 2020 से लागू किया गया है।

उससे पहले 10 दिसंबर 2020 को लोकसभा में, और 11 दिसंबर 2020 को राज्यसभा में इस कानून को पारित किया गया था। इस कानून को बनाते वक्त संसद में पक्ष और विपक्ष के बीच में खूब तीखी बहस हुई थी।

नागरिकता संशोधन कानून, यानी सीए का नोटिफिकेशन लागू होने के बाद पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश में रहने वाले अल्पसंख्यक, यानी हिंदू, ईसाई, जैन, बौद्ध और पारसी धर्म को मानने वाले लोग भारत के नागरिक बन सकेंगे।

कानून को लागू करने के लिए 2 दिन पहले ही केंद्रीय गृह मंत्रालय के द्वारा नोटिफिकेशन जारी किया गया है, इसके लागू होने से 20 जनवरी 2020 से यह कानून प्रभावी हो गया है।

आपको बता दें कि नागरिकता संशोधन कानून संसद में पारित होने के बाद सरकार विरोधी लोगों के द्वारा खासतौर से मुस्लिम समुदाय से आने वाले लोगों के द्वारा दिल्ली के शाहीन बाग में धरना दिया गया था। करीब 3 महीने बाद कोरोना की वैश्विक महामारी के चलते धरना खत्म हुआ था। इसके अलावा पूरे देश भर में कोई 400 से ज्यादा जगह पर धरना दिया गया था।

आपको बता दें कि लंबे समय से भारतीय जनता पार्टी के द्वारा पाकिस्तान अफगानिस्तान और बांग्लादेश में रहने वाले हिंदुओं के ऊपर अत्याचार किए जाने के कारण नागरिकता संशोधन कानून बनाने की बात कही जा रही थी, जिसको नरेंद्र मोदी की दूसरी सरकार के द्वारा लागू किया गया है।

यह भी पढ़ें :  कांग्रेस के सहाड़ा से गायत्री देवी, राजसमंद से तनसुख बोहरा, सुजानगढ़ से मनोज मेघवाल प्रत्याशी