ममता को शपथ दिलाने के साथ ही राज्यपाल धनकड़ ने दी चेतावनी

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल में 200 से ज्यादा सीटों के साथ तीसरी बार मुख्यमंत्री बनी ममता बनर्जी के द्वारा 5 मई को मुख्यमंत्री पद की तीसरी बार शपथ ली गई है। पश्चिम बंगाल के राज्यपाल कुलदीप धनकड़ के द्वारा ममता बनर्जी को शपथ दिलाई गई।

पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस के जीतने के बाद जिस तरह से हिंसा की तमाम घटनाएं सामने आ रही है। उसके बाद भारतीय जनता पार्टी के द्वारा 5 मई को पूरे देश भर में एक साथ धरना देकर ममता बनर्जी की पार्टी के खिलाफ प्रदर्शन किया गया।

दूसरी और राज्यपाल कुलदीप धनकड़ के द्वारा ममता बनर्जी को मुख्यमंत्री पद की तीसरी बार शपथ दिलाने के बाद संबोधित करते हुए राज्य में तुरंत प्रभाव से हो रही भयंकर हिंसा को कंट्रोल करने की हिदायत भी ममता बनर्जी को दी गई है।

राज्यपाल ने ममता बनर्जी को हिदायत देते हुए कहा कि जिस तरह से राज्य में हिंसा हो रही है उससे स्पष्ट है कि तृणमूल कांग्रेस के लोग जीत से उत्साहित होकर हत्या कर रहे हैं वह बिल्कुल लोकतंत्र के खिलाफ है।

गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में अब तक तृणमूल कांग्रेस के द्वारा की गई घटनाओं में 3 दर्जन से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है, जबकि भाजपा के मुताबिक 700 गांव में महिलाओं के साथ बलात्कार किया गया है और कई जगह पर घरों और दुकानों को आग लगा दी गई है।

हालांकि राज्यपाल की हिदायत के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की तरफ से कहा गया कि अब तक राज्य का पूरा प्रशासन चुनाव आयोग के पास था और ऐसे में तमाम हिंसक घटनाओं के लिए जिम्मेदार भी चुनाव आयोग है, किंतु राज्यपाल कुलदीप धनकड़ के द्वारा जो कुछ कहा गया उसके बाद राज्य में राष्ट्रपति शासन लगने की भी तमाम संभावना पर चर्चा शुरू हो गई है।

यह भी पढ़ें :  इस बार विधानसभा में तीसरे मोर्चे का लट्ठ गडेगा