सचिन पायलट को बना दो मुख्यमंत्री, नहीं तो वो भी छोड़ देंगे कांग्रेस—सिंधिया

Jyotiraditya-Scindia-Rahul-Gandhi
Jyotiraditya-Scindia-Rahul-Gandhi

नई दिल्ली। राहुल गांधी के द्वारा एक दिन पहले यूथ कांग्रेस के सम्मेलन में दिये गये भाषण पर पलटवार शुरू हो गये हैं। राहुल गांधी को जवाब देते हुये सिंधिया ने कहा है कि इतनी चिंता राहुल गांधी को अब है, काश यह तब होती जब मैं कांग्रेस में था। उन्होंने कहा कि अब इस बारे में मुझे और कुछ नहीं कहना है। मध्य प्रदेश के मंत्री नरोत्तम शर्मा ने भी जवाब दिया है कि मध्य प्रदेश में ज्योतिरोदित्य सिंधिया के बिना कांग्रेस कुछ भी नहीं है, शून्य है।

शिवराज सिंह की सरकार में गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने भी राहुल गांधी पर पलटवार करते हुए कहा था कि कांग्रेस को समझ में आ गया कि मप्र में कांग्रेस सिंधिया के बिना शून्य है। अब अगर सिंधिया की इतनी चिंता है, तो फिर एक प्रयोग कर राजस्थान में सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बना दें।

आपको बता दें कि ज्योतिरादित्य सिंधिया ने 18 साल कांग्रेस में रहने के बाद मार्च 2020 में पार्टी के खिलाफ बगावत कर दी थी। बाद में उन्होंने भाजपा का दामन थाम लिया था और उनको बीजेपी ने राज्यसभा सांसद बना दिया था।

सिंधिया ने मध्यप्रदेश में तत्कालीन कांग्रेस की कमलनाथ सरकार गिरा दी थी। मार्च 2020 में कांग्रेस के 22 विधायकों ने स्तीफा दे दिया था, बाद में सभी भाजपा में शमिल हो गये थे। इस पर सोमवार को राहुल गांधी ने कांग्रेस की युवा शाखा के एक कार्यक्रम में कांग्रेस के संठगन की अहमियत बताने के लिए कहा था कि ज्योतिरादित्य सिंधिया के लिये बयान दिया था।

यह भी पढ़ें :  पीएम मोदी ने भारत द्वारा बनाई जा रही कोरोना वैक्सीन की तारीख बताई, जानिए कब आएगी?

राहुल ने कहा था कि सिंधिया अगर कांग्रेस में होते तो सीएम बन सकते थे, लेकिन अब भाजपा में वे बैकबेंचर बन गए हैं। राहुल ने कहा भाजपा में रहते ज्योतिरादित्य सिंधिया कभी मुख्यमंत्री की कुर्सी पर नहीं बैठ सकते, इसके लिए उन्हें वापस कांग्रेस में लौटना पड़ेगा।