भारतीय माइक्रोब्लॉगिंग एप koo को क्यों प्रमोट कर रही है मोदी सरकार?

जयपुर। पिछले करीब 1 सप्ताह से देश के भीतर माइक्रोब्लॉगिंग एप के कंपटीशन को लेकर तरह-तरह की चर्चा हो रही है। केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के द्वारा भी देसी माइक्रोब्लॉगिंग ऐप koo को बढ़ावा देने का तेजी से काम किया जा रहा है।

इस लेख में हम आपको बताएंगे कि ऐसा क्या कारण है, जो केंद्र के नरेंद्र मोदी सरकार एक देसी माइक्रोब्लॉगिंग ऐप koo को बढ़ावा देने के लिए तमाम मंत्रालयों को निर्देश दे चुकी है? तकरीबन मोदी सरकार के सभी मंत्रालय इस माइक्रोब्लॉगिंग एप के ऊपर ट्विटर की तरह आ चुके हैं।

koo twitter 1612947189

बताया जा रहा है कि केंद्र सरकार के सभी मंत्रालय अब सभी अधिकारिक सूचनाएं जिस तरह से पहले ट्विटर पर दिया करते थे, अब इसी देशी ऐप koo के ऊपर देना शुरू कर चुके हैं, आगे भी देते रहेंगे। इस को लेकर सबसे बड़ी बात यह है कि भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के द्वारा एक लिखित आदेश जारी किया गया है।

दरअसल 26 जनवरी को जब कथित तौर पर किसानों के द्वारा लाल किले के ऊपर हमला किया गया था और वहां पर कुछ असामाजिक लोगों के द्वारा धार्मिक झंडे लगाए गए थे। उसके बाद सोशल मीडिया पर फैली अफवाह को रोकने के लिए और सरकार को बदनाम करने के लिए ट्विटर पर चलाए जाने वाले ट्रेंड्स को बंद करने के लिए सरकार ने ट्विटर को लिखित में निर्देश दिए थे।

इसको लेकर सरकार ने ट्विटर से कहा था कि 1437 अकाउंट बंद करने थे और इसके साथ ही बेवजह ट्रेंड करने वाले ट्रेंड्स को बंद करने के लिए भी कहा था। लेकिन केंद्र सरकार के द्वारा दिए गए दिशा निर्देशों के बाद भी ट्विटर के द्वारा केवल 257 अकाउंट सस्पेंड किए गए थे, जिनमें से भी कई एकाउंट्स के बाद में चालू कर दिया गया।

यह भी पढ़ें :  दूध नहीं देने वाली गायें भी देती हर माह हज़ारों की आय, कैसे कमाएं पढ़िए यह लेख-

इसको लेकर सरकार के द्वारा ट्विटर के खिलाफ सख्त रवैया अपनाया गया। सरकार ने एक बार फिर से ट्विटर को लिखित पत्र जारी किया, जिसमें कहा गया कि अगर दोबारा से इस माइक्रोब्लॉगिंग एप के द्वारा सरकार के दिशा निर्देश नहीं मानेंगे तो देश ने इसको बंद करने जैसी सख्त कार्रवाई भी की जा सकती है।

बताया जाता है कि इसके साथ ही केंद्र सरकार के सभी मंत्रालय एवं मंत्रियों को ट्विटर के बजाय देसी माइक्रोब्लॉगिंग ऐप koo पर जाने और इसके जरिए ही सरकारी सूचनाएं सार्वजनिक करने के निर्देश दिए गए हैं।

quint hindi 2021 02 e8189751 2400 40c8 9077 ee644a67bb0b h

आपको बता दें कि इस देसी माइक्रोब्लॉगिंग ऐप को केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के द्वारा लॉकडाउन के दौरान शुरू किए गए आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत एक करोड़ रुपए का इनाम जीतने का कार्य विधि किया गया है।

इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने मन की बात के अंदर भी इस देसी माइक्रोब्लॉगिंग ऐप koo के बारे में विस्तार से जानकारी दी व देश के युवाओं को इस तरह की है खुद के आंत्रप्रेन्योरशिप शुरू करने, साथ ही स्वदेशी को बढ़ावा देते हुए आत्मनिर्भर भारत अभियान को सशक्त करने की अपील की थी।

आपको बता दें कि अब तक इस देसी माइक्रोब्लॉगिंग ऐप koo को गूगल प्ले स्टोर से 2 मिलियन से ज्यादा लोगों के द्वारा इनस्टॉल किया जा चुका है। इसी तरह से एप्पल स्टोर पर भी बड़े पैमाने पर लोग इंस्टॉल कर रहे हैं। जब से केंद्र सरकार के द्वारा ट्विटर के खिलाफ एक्शन लिया गया है, तब से इस देसी माइक्रो ब्लॉगिंग एप फ्री डाउनलोड करने वालों की तादाद तेजी से बढ़ रही है।

यह भी पढ़ें :  कांग्रेस के इन 5 बड़े नेताओं ने क्या मोदी सरकार का समर्थन, राहुल गांधी अलग-थलग पड़े