परजीवीयों की तरह आंदोलनजीवियों के नाम से एक नई जमात खड़ी हो गई है:PM

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि देश में परजीवीयों की तरह आंदोलनजीवियों के नाम से एक नई जमात खड़ी हो गई है। उन्होंने कहा कि यह नई जमात चाहे वकीलों का आंदोलन हो, स्टूडेंट्स का आंदोलन हो, किसानों का आंदोलन हो या फिर देश में कोई भी दूसरा आंदोलन हो हर जगह अपने लिए अवसर ढूंढ लेती है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को सुबह 10:30 बजे राज्यसभा में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण के जवाब में बोल रहे थे। उन्होंने विपक्ष पर हमला करने के साथ ही किसान आंदोलन में वामपंथी संगठनों, जेएनयू के कॉमरेड संगठनों, आम आदमी पार्टी, कांग्रेस समेत तमाम उन लोगों पर निशाना साधा, जो इस आंदोलन को बेवजह बढ़ावा देने का काम कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्यसभा में विपक्ष के ऊपर भी जमकर निशाना साधा। इसके साथ ही प्रधानमंत्री ने एक बार फिर से कहा कि इस देश में न्यूनतम समर्थन मूल्य कल भी था, आज भी है, और आगे भी रहेगा, इसको कभी कोई खत्म नहीं करेगा।

प्रधानमंत्री ने सभी किसानों को आश्वस्त करते हुए कहा कि आंदोलन का रास्ता छोड़कर बातचीत पर आ जाएं। उन्होंने सरकार के द्वारा दिए गए प्रस्ताव के बारे में भी कहा कि यह प्रस्ताव आज भी किसानों के सामने है, उनको इन्हें स्वीकार करके जनहित में आंदोलन खत्म करना चाहिए।

नरेंद्र मोदी ने इसके साथ ही उनकी सरकार के द्वारा पिछले 1 साल के दौरान किए गए महत्वपूर्ण कार्यों और विशेष रूप से कोरोना वायरस की वैश्विक महामारी के दौरान जिस तरह से भारत ने दुनिया भर को दिखा दिया, कि भारत में विश्व गुरु बनने के सभी लक्षण मौजूद हैं, उनका भी जिक्र किया।

यह भी पढ़ें :  भारतीय सेना ने भी संभाला मोर्चा, कोरोना वायरस के खिलाफ आर्मी उत्तरी मैदान में

साथ ही सरकार के द्वारा किए गए महत्वपूर्ण कार्यों का भी उल्लेख करते हुए विपक्षी दलों को देश हित में सरकार और पार्टी का कार्यक्रम नहीं मानकर, सभी 130 करोड़ भारतीयों के नाम से आत्मनिर्भर भारत को बढ़ावा देने का आह्वान किया।